आंगनवाड़ी वर्करों ने लगाया अनदेखी का आरोप, सरकार के खिलाफ की नारेबाजी

  • 22 Oct 2018
  • Reporter: पी. चंद, शिमला

सिरमौर जिला की सभी आगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने अनदेखी का आरोप लगाते हुए सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। आगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने कहा कि मांगों को लेकर पांच दिन तक धरना-प्रदर्शन किया जाएगा। जिसका आगाज उन्होंने नाहन में डीसी ऑफिस से कर दिया है। इनकी मांग है कि आंगनबाड़ी वर्कर्स का वेतन भी हरियाणा और पंजाब की तर्ज पर किया जाये और आंगनबाड़ी वर्कर्स को भी सरकारी कर्मचारी माना जाए।

प्रदेश के सरकारी स्कूलों में जो प्री नर्सरी क्लासे शुरू की गई हैं उनमे आंगनबाड़ी वर्कर्स को प्राथमिकता के आधार पर लिया जाये यह भी आंगनबाड़ी वर्कर्स की मांगों में शामिल है। इस पांच दिवसीय धरना प्रदर्शन में रोजाना जिला के दो ब्लॉक शामिल होंगे और यदि इनकी मांगे ना मानी गयी तो आने वाले समय में विधानसभा का घेराव भी किया जायेगा।

संगडाह की प्रोजेक्ट अध्यक्ष नीलम ठाकुर ने कहा की प्रदेश सरकार चाहे कोई भी रही हो आंगनबाड़ी वर्कर्स के बारे में कभी भी कोई ठोस निति नहीं बनाई जाती है। सभी सरकारों ने इन वर्कर्स के साथ अन्याय पूर्ण रुख अपनाये रखा है। नीलम ने कहा की जब तक सरकार इस दिशा में कोई महत्वपूर्ण कदम नहीं उठाती है तब तक आंगनबाड़ी वर्करों का यह संघर्ष जारी रहेगा।

महासचिव प्रोजेक्ट शिलाई सुनीता शर्मा ने कहा की आंगनबाड़ी वर्कर बीते 20 से 30 सालों से जमीनीस्तर पर कार्य कर रहे है बावजूद इसके सरकार उनकी अनदेखी कर रही है। इसी वजह से आज आंगनबाड़ी वर्कर्स को यह प्रदर्शन करना पड़ रहा है।