नोटबंदी जैसे हालात! कई राज्यों में ATM खाली, बैंकों में लगी लंबी कतार

  • 17 Apr 2018
  • Reporter: समाचार फर्स्ट

देश के कई बड़े राज्यों में इस वक्त कैश की किल्लत की खबरें आ रही हैं। कुछ जगह तो ये हालात नोटबंदी के जैसे हो गए हैं। इसी बीच कैश किल्लत के मुद्दे पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने अहम बयान दिया है। जेटली ने कहा है कि प्रचलन में पर्याप्त मुद्रा है और अस्थायी दिक्कतों को जल्दी ही दूर कर दिया जाएगा।
 
अचानक बढ़ी मांग से मुद्रा में आई कमी

खबरें हैं कि गुजरात, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, बिहार, आंध्रप्रदेश और तेलंगाना जैसे कम से कम छह राज्यों में मुद्रा की कमी है। जेटली ने एक ट्वीट में कहा कि उन्होंने देश में मुद्रा की स्थिति का आकलन किया है। वित्त मंत्री ने कहा कि कुल मिलाकर पर्याप्त से ज्यादा मुद्रा चलन में है और यह बैंकों के पास भी उपलब्ध है।

कुछ इलाकों में असाधारण तरीके से अचानक बढ़ी मांग से मुद्रा की अस्थायी तौर पर कमी हो गई है जिसे जल्द ही निपटा लिया जाएगा। इससे पहले केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री एसपी शुक्ला ने कहा कि हमारे पास इस समय एक लाख 25 हजार करोड़ की नकदी है। कुछ राज्यों में नकदी की कमी हैं तो कुछ में यह अधिक है।

सरकार ने राज्यवार समितियों का गठन किया है और रिजर्व बैंक ने भी एक राज्य से दूसरे राज्य को नकदी हस्तांतिरत करने के लिए समिति गठित की है। यह कार्य तीन दिन में पूरा हो जाएगा।

ATM में नहीं है कैश

देश के कई हिस्सों में बैंकों के पास नकदी की दिक्कत है। एटीएम में पैसा नहीं होने से लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। वैवाहिक सीजन होने की वजह से भी लोगों के समक्ष काफी कठिनाई आ रही है। रिजर्व बैंक की रिपोर्ट बताती है कि देश में अभी मुद्रा का स्तर नोटबंदी से पहले वाले स्तर यानी करीब 17 लाख करोड़ रुपए तक पहुंच गया है।