हार्ट की बीमारी का बेस्ट स्पेशलिस्ट आ रहा है कांगड़ा, लाइन में लगे रहते हैं देश के टॉप हॉस्पिटल

  • 27 May 2018
  • Reporter: समाचार फर्स्ट डेस्क

जनाब! दिल की बीमारी ने तो हेल्थ की लंका लगा के रख दी है। हम इश्क से घायल दिल की बात नहीं कर रहे, बल्कि हाई-कैलेस्ट्रॉल और चर्बी तले तड़प रहे दिल की बात कर रहे हैं। ग़ालीबन यही वजह है कि इस दिल की बीमारी से ना सिर्फ 50 या 60  बल्कि 30 की उम्र वाले गबरू-नौजवान भी पीड़ित हैं। फास्ट-फूड और नाइटलाइफ बीताने वालों को तो पता ही नहीं चलता की उनका दिल रोग से बोझिल है और फिर एक दिन खामोशी में ही 'टैं' बोल जाते हैं।

देवियों एवं सज्जनों! यह बात डराने के लिए नहीं बल्कि ताक़ीद करने लिए बताई जा रही है। यक़ीन नहीं तो उदाहरण के तौर पर 05 जून 2016 में छपे देश के प्रतिष्ठित अख़बार 'द हिंदू' को गूगल कर लीजिए। हेडिंग है, 'Heart diseases catching up more with youngsters in Himachal'. जो अंग्रेजी नहीं जानते उन्हें बता दें। 2016 में ही देश के एक्सपर्ट ने बताया कि ज्यादा स्मॉकिंग, शराब, आयली खाना और फास्टफूड खाने से हिमाचल में ज्यादा दिल के मरीज बन रहे हैं और इनमें सबसे ज्यादा युवा हैं। सोचिए ये बात तो 2016 में कही गई थी और अब तो वक़्त 2018 चल रहा है। मामला और खूंखार लेवल तक पहुंचा होगा।

लेकिन कम से कम हिमाचल के युवा और ख़ासकर बुजुर्ग दिल की बीमारी को लेकर मायूस ना हों। क्योंकि, फोर्टिस कांगड़ा ने बीमारी को बेहद की कम पैसे में खत्म करने के लिए दुनिया के बड़े-बड़े स्पेशलिस्ट्स के साथ टाई-अप किया है। जो बीमारी की ही लंका लगाने के लिए दुनिया भर में मशहूर हैं। मतलब रोग का कंप्लीट सफाया। फोर्टिस कांगड़ा के अफसरानों में शामिल विजय कुमार का कहना है, '' प्रदेश में दिल के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। कई लोगों को पता ही नहीं कि वे दिल की बीमारी से पीड़ित हैं। कई मामलों मे मरीज पैसे के खर्च देखकर भी नुस्खे आजमाने में व्यस्त हो जाता है। लेकिन, फोर्टिस कांगड़ा ने बतौर मुहिम लोगों को बेस्ट और कम पैसे में इलाज मुहैया कराने का टारगेट तय किया है। इसके लिए विश्व-विख्यात डॉक्टरों से सेवा देने की अपील की है और बेस्ट स्पेशलिस्ट्स हमारे साथ जुड़ भी रहे हैं।"

फोर्टिस कांगड़ा ने दिल की बीमारी का बेस्ट इलाज मुहैया कराने के लिए देश के सबसे बेस्ट और चर्चित 'कॉर्डियोलॉजिस्ट' डॉक्टर सुभाष चंद्रा से हाथ मिलाया है। ये डॉक्टर साहब भी बड़े डिमांडिंग हैं। दिल्ली स्थित एस्कॉर्ट,अपोलो और बीएलके जैसे फाइव-स्टार हॉस्पिटल का इनके साथ टाई-अप है। अगर ये इन अस्पतालों को टाइम ना दें तो इनकी हालत टाइट हो जाती है। लेकिन, फोर्टिस कांगड़ा ने इनको दिल्ली से हिमाचल खींच लाया है। अब जनाब पब्लिक की डिमांड पर यहां भी अपनी सेवा देने जा रहे हैं और इलाज का खर्च भी बेहद मामूली जो कांगड़ा में होता है।

अगर आप दिल से संबंधित बीमारी से पीड़ित हैं या आपको डर है कि कहीं दिल की बीमारी हावी तो नहीं हो रही। तो यह एक बेहद ही अच्छा मौका है। 29 मई को सुबह 9 बजे से लेकर शाम 5 बजे तक डॉक्टर सुभाष चंद्रा और उनके साथ डॉक्टर अखिल गौतम स्पेशल सेवा देने जा रहे हैं। तारीख़ और टाइम याद कर लीजिए। दिल्ली जाने की जरूरत नहीं है। सिर्फ आलस हटाना है और कांगड़ा पहुंच जाना है। फिर दिल की बीमारी का बेस्ट इलाज तो तय है। अगर यकीन नहीं है तो डॉक्टर सुभाष चंद्रा नाम का गूगल ही कर लीजिए।