स्टेट ड्रग अथॉरिटी की बड़ी कार्रवाई, 5 दवा कंपनियों के लाइसेंस निलंबित

  • 15 May 2018
  • Reporter: पी. चंद

हिमाचल प्रदेश में बनने वाली दवाइयों के सैंपल फेल होने पर स्टेट ड्रग अथॉरिटी ने बड़ी कार्रवाई की है। स्टेट ड्रग कंट्रोलर ने सैंपल फेल होने वाली पांच दवा कंपनियों के लाइसेंस रद्द कर दिए हैं। इन दवा कंपनियों के सैंपल लगातार फेल हो रहे थे और ये तय मानकों पर खरा नहीं उतर पा रही थी।

बता दें कि  दवा कंपनियों को ड्रग कंट्रोलर ने नोटिस देकर रिपोर्ट मांगी थी। जिसमें 5 दवा कंपनियों की रिपोर्ट सही न आने के बाद विभाग ने इन कंपनियों के लाईसेंस रद्द करने का फैंसला लिया है।

नियमों की अवहेलना करने वाली कंपनियों को बख्शा नहीं जाएगा: स्टेट ड्रग कंट्रोलर

स्टेट ड्रग कंट्रोलर नवनीत मारवाह ने कहा कि इन दवा कंपनियों के दवाइयों के सेंपल बार -बार फेल हो रहे थे। इसलिए इन पांच दवा कंपनियों के प्रोजेक्ट लाइसेंस सस्पेंड कर दिए गए हैं। उन्होंने कहाम कि नियमों की अवहलना करने वाली किसी भी दवा कंपनी को बख्शा नहीं जाएगा।

इन 5 उद्योगों के लाइसेंस हुए निलंबित

वहीं, विभाग की इस बड़ी कार्रवाई से उद्योगों में हड़कंप मच गया है। यही नहीं 7 उद्योगों को चेतावनी के साथ छोड़ा गया है जबकि, 9 उद्योगों के खिलाफ अभी जांच चली हुई है। इन सभी उद्योगों पर भी कार्रवाई की तलवार लटकी हुई है। जिन 5 उद्योगों के लाइसेंस निलंबित हुए है उनमें 3 बीबीएन, 1-1 बड़ोग और संसारपुर टैरेस का है। इन उद्योगों को ड्रग एंड कॉस्मेटिक्स एक्ट के तहत तय किए गए सभी मानकों को पूरा करना होगा। जब तक ये उद्योग निर्धारित मानकों पर खरे नहीं उतरेंगे तब तक इनमें उत्पादन बंद रहेगा।