सरकार ने रोल बैक किया सेमेस्टर सिस्टम, पुराने छात्रों को नहीं मिलेगी राहत

  • 07 Jun 2018
  • Reporter: पी. चंद

सरकार ने रूसा प्रणाली में संशोधन कर प्रदेश के छात्रों को बड़ा तोहफा दिया है। सरकार ने सेमेस्टर सिस्टम को ख़त्म कर दोबारा वार्षिक प्रणाली लागू करने की औपचारिक घोषणा कर दी है। शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में सेमेस्टर सिस्टम को पूरी तरह ख़त्म करने की बात कही।

अब इस साल का नया बैच वार्षिक प्रणाली के तहत बैठगा और पेपर देगा, जबकि पुराने छात्रों को राहत नहीं मिलेगी। दूसरे और तीसरे ईयर के स्टूंडेट्स को सेमेस्टर के तहत ही पेपर देने होंगे। रूसा प्रणाली पर विरोध के चलते सरकार ने ये कदम तो उठाया है, लेकिन प्रणाली को पूरी तरह ख़त्म नहीं किया गया।

(विज्ञापन के नीचे स्क्रॉल करें...)

मंत्री ने याद दिलाया मेनिफेस्टो

साथ ही शिक्षा मंत्री ने बीजेपी के मेनिफेस्टो का भी हवाला दिया और कहा कि अपने मेनिफेस्टो के अनुसार सरकार ने सेमेस्टर सिस्टम ख़त्म किया है। उन्होंने कहा सरकार ने इसको लेकर पूर्व वीसी सुनील गुप्ता की अध्यक्षता में कमेटी बनाई थी, जिन्होंने छात्रों शिक्षकों से बातचीत कर सेमेस्टर सिस्टम खत्म करने की सिफारिश की है।

ग़ौरतलब है कि 2013 में रूसा प्रणाली की शुरुआत हुई थी, जिसके चलते सरकार को कई फायदे होते हैं। लेकिन, जब लोगों को सेमेस्टर सिस्टम समेत रिजल्ट आदी की प्रक्रिया रास नहीं आई तो उन्होंने विरोध शुरू कर दिया। विधानसभा चुनावों में भी बीजेपी ने इस मुद्दे को खूब राजनीतिक रंग दिया, लेकिन अब छात्रों को कुछ हद राहत दी गई है।