HRTC यूनियन लीडर की गुंडई, अधिकारी को डांटा, औकात बताई और फिर...

  • 14 Jun 2018
  • Reporter: पी. चंद, शिमला

हिमाचल प्रदेश में सत्ता की हनक किस कदर है यह आपको इस 'कॉल-रिकॉर्डिंग' में बाखूबी सुनने को मिल जाएगी। इस टेप में एचआरटीसी का एक यूनियन लीडर हमीरपुर के डिविजनल मैनेजर को धमका रहा है। हालांकि, डीएम दलजीत सिंह ने यूनियन लीडर शंकर सिंह के खिलाफ सदर थाने में एफआईआर दर्ज करा दी है। जबकि, दूसरी तरफ समाचार फर्स्ट से बातचीत में शंकर सिंह ने खुद के ऊपर लग रहे आरोपों से किनारा किया है और उसका कहना है कि वह सिर्फ बात करने के लिए डीएम को फोन किया था।

लेकिन, दोनों लोगों की इस पूरी बातचीत से साफ है कि यहां वार्तालाप नहीं बल्कि एक पक्ष दूसरे को औकात में रहने और लोगों को हाथ नहीं लगाने की धमकी दे रहा है। यूनियन लीडर शंकर सिंह डांट रहा है और बेचारा डीएम उसकी बातों को सिर्फ सुने जा रहा है। ऑडियो में हालांकि डीएम जुबान सही रखने और ठीक ढंग से बात करने की हिदायत भी दे रहा है। लेकिन, शंकर सिंह पूरे रौब के साथ उसे धमकी दिए जा रहा है। नीचे वीडियो पर क्लिक करके सुनें---


कहां गया रोडवेज का मामला?

समाचार फर्स्ट को एचआरटीसी के भीतर से मिली जानकारी के मुताबिक शंकर सिंह वीरभद्र सरकार में एचआरटीसी को रोडवेज बनाने के लिए लगातार आंदोलन चलाए हुए थे। इस दौरान शंकर सिंह को अनुशासनहीनता के आरोप में सस्पेंड भी किया गया और आंदोलन में शामिल कई लोगों पर गाज भी गिरी। लेकिन, सरकार बदलते ही शंकर सिंह की फिर से बहाली हो गई। जबकि, इस आंदोलन में शामिल बाकी लोग खुद को अब ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। शंकर सिंह भी रोडवेज का मुद्दा अब ठंडे बस्ते भी डाल चुके हैं।