शिमला: पेयजल योजना में घोटाला, लोगों ने उठाई जांच की मांग

  • 12 Jun 2018
  • Reporter: पी. चंद

शिमला के रोहडू में 8 सालों से संधासु खशधार उठाऊ पेयजल योजना आज तक पूरी नहीं हो पाई है, जिसको लेकर स्थानीय लोगों ने रोष जाहिर किया है। लोगों का कहना है कि 8 साल पहले इस प्रोजेक्ट में 29 ठेकेदारों ने काम किया और लगभग 2 करोड़ की लागत से यह योजना बनकर तैयार हुई। लेकिन, बावजूद इसके आज तक इसमें पानी लिफ्ट नहीं हो सका है।

साथ ही लोगों ने इस योजना में घोटाले के आरोप भी लगाए। लोगों का कहना है कि इस प्रोजेक्ट में काफी घोटाले हुए हैं, क्योंकि जो पूअर मशीनरी लगाई गई है, वे पूरी तरह ख़राब हो चुकी है। इस मशीनरी में लाखों का खर्च हुआ है, जिसकी विभाग को कोई केयर तक नहीं है। विभाग को ठेकेदार से लेकर हर किसी पर जांच बिठानी चाहिए और योजना को बहाल करवाना चाहिए।

(आगे की ख़बर के लिए नीचे स्क्रॉल करें...)

'पूर्व मुख्यमंत्री से की थी शिकायत'

लोगों का कहना है कि इस बारे में कई बार पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह और सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग से शिकायत की गई है। लेकिन, बावजूद इसके कोई कार्रवाई नहीं की गई। लोगों ने मांग उठाई है कि इस योजना को जल्द शुरू किया जाए और जो भी गड़बड़िया इसमें हुई हैं, उनकी गहनता से जांच होनी चाहिए।