ह्यूमिडिटी बढ़ने से धुंध की आगोश में शिमला, उमस से लोग परेशान

  • 14 Jun 2018
  • Reporter: पी. चंद

बादलों की लुकाछिपी के बीच गुरूवार को शिमला की पहाड़िया धुंध से ढक गई हैं। जिस कारण उमस बढ़ने से लोग परेशान हैं। शिमला में आज 75% ह्यूमिडिटी दर्ज की गई है। वेदर एक्सपर्ट्स का कहना है कि तापमान पर नियंत्रण का काम ह्यूमिडिटी (आर्द्रता) करती है, लेकिन इससे मिनिमम टेंपरेचर अपने आप बढ़ता जाता है। इसके असर से वातावरण में धुंध पड़ने के साथ उमस बढ़ जाती है और लोग गर्मी से तड़फड़ाने लगते हैं और घुटन और बेचैनी आम जन-जीवन पर दिखने लगती है।

पब्लिक में तड़फड़ाहट

शिमला में ह्यूमिडिटी बढ़ने का असर वातावरण में उमस और घुटन के तौर पर दिख रहा है। लोग पानी तो पी रहे हैं, लेकिन प्यास नहीं बुझ रही। धूप से बचने के लिए लिए, तो लोग सिर ढंक कर और गॉगल लगाकर निकल रहे हैं, लेकिन उमस की तड़फड़ाहट तकलीफ दे रही है।