वीरेंद्र ने बॉक्सिंग में सिल्वर मेडल जीत रचा इतिहास

  • 13 Jun 2018
  • Reporter: समाचार फर्स्ट

सुंदरनगर के वीरेंद्र ठाकुर ने रूस में संपन्न हुई इंटरनेशनल बॉक्सिंग टूर्नामेंट में  सिल्वर मेडल जीत कर इतिहास रचा है। वीरेंद्र मंडी जिला के सुंदरनगर उपमंडल के बोबर गांव का रहने वाले है। उन्होंने अपनी पढ़ाई MLSM कॉलेज सुंदरनगर से की। अपनी पढ़ाई के दौरान ही बॉक्सिंग सेंटर सुंदरनगर में कोच नरेश कुमार की देख रेख में अभ्यास करते रहे। इससे पूर्व उन्होंने कई नेशनल प्रतियोगिताओं में मेडल जीते है।कॉलेज की पढ़ाई के बाद वीरेंद्र का चयन भारतीय सैना में हुआ लेकिन वीरेंद्र ने अपने खेल को आर्मी स्पोर्ट्स इंस्टीट्यूट पूणे में निरंतर जारी रखा। कुछ समय के बाद वीरेंद्र का चयन  NIS पटियाला में इंडिया कैंप के लिए हुआ।
रूस में 5 जून से 13 जून तक आयोजित की गई उमखनोव मैमोरियल प्रतियोगिता में वीरेंद्र को पहली बार भारत की तरफ से 91 किलो भार वर्ग में बॉक्सिंग करने का मौका मिला।वीरेंद्र ने अपने पहले मुकाबले में अज़रबेजान के खिलाड़ी को 5-0 से हरा कर फाइनल में जगह बनाई। वही फाइनल मुकाबला मंगलवार को स्वीडन के खिलाडी और भारत के वीरेंद्र के वीच 91 किलोग्राम भार वर्ग में खेला गया। लेकिन काफी देरी तक चले महामुकाबले में वीरेंद्र को हार का सामना करना पड़ा लेकिन हार के साथ भी वीरेंद्र अपने अच्छे प्रदर्शन के दम पर सब का दिल जी लिया। उन्हें सिल्वर मैडल के साथ उन्हें सतुष्ट होना पड़ा।