लोकसभा में विपक्षी दलों के अविश्वास प्रस्ताव पर शुक्रवार को चर्चा, कांग्रेस बोली- हमारे पास है नंबर

  • 19 Jul 2018
  • Reporter: समाचार फर्स्ट डेस्क

संसद के मानसून सत्र का आज दूसरा दिन है। बीते दिन सत्र काफी हंगामेदार रहा।  मोदी सरकार के खिलाफ पहले अविश्वास प्रस्ताव पर कल होने वाली चर्चा से पहले बीजेपी ने अपने सांसदों को व्हिप जारी किया है। संसद के मानसून सत्र के पहले ही दिन कल लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने सरकार के खिलाफ विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव नोटिस को चर्चा और वोटिंग के लिए स्वीकार कर लिया था। अविश्वास प्रस्ताव पर सरकार ने जीत का भरोसा जताया है तो वहीं, यूपीए की अध्यक्षा सोनिया गांधी ने कहा है कि कौन कहता है हमारे पास नंबर नहीं है।

लोकसभा में शुक्रवार को सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा होनी है। दोनों ही तरफ से अपने-अपने पक्ष में बहुमत होने के दावे किये जा रहे है। अलग-अलग पार्टियां अपनी रणनीति को लेकर आज विचार विमर्श कर अंतिम फैसला कर सकती है। कल सोनिया गांधी ने संसद भवन परिसर में संवाददाताओं के सवाल के जवाब में कहा, 'किसने कहा कि हमारे पास संख्या नहीं है।

कांग्रेस के पार्टी महासचिव केसी वेणुगोपाल ने संवाददाताओं से कहा, 'हम खुश हैं कि लोकसभा अध्यक्ष ने अविश्वास प्रस्ताव के नोटिस को स्वीकार कर लिया है। अगर बजट सत्र से जारी हंगामा नहीं थमा तो मासूमों से रेप पर फांसी, तीन तलाक और ओबीसी आयोग को संवैधानिक दर्जा संबंधी बिल अटके रह जाएंगे।


इसके अलावा संसद के इस सत्र में मानवाधिकार, सूचना का अधिकार और मानव तस्करी पर गंभीर बहस भी देखने-सुनने को मिलेगी। बुधवार को सत्र शुरू होने के साथ ही लोकसभा और राज्यसभा में मोदी सरकार के खिलाफ विपक्ष ने जोरदार हंगामा किया।
आज फिर उठेगा लिंचिंग का मामला

इसके साथ ही दोनों ही सदनों में भीड की तरफ से हिंसा का मामला आज एक बार फिर उठ सकता है। बुधवार को भी आरजेडी, एनसीपी और कांग्रेस ने भी लोकसभा में इस पर चर्चा के लिए नोटिस दिया। इस मामले पर आज फिर एक बार दोनों सदनों में हंगामा हो सकता है। राज्यसभा में आज क्रिमिनल अमेंडमेंट बिल पर चर्चा होगी। साथ ही आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने के लिए टीडीपी के सांसद सीएम रमेश के नोटिस पर शार्ट ड्यूरेशन चर्चा होगी।