नशे की चपेट में कहीं 'उड़ता पंजाब' न बन जाए हिमाचल, सरकार को बनानी होगी नीति: शांता

  • 10 Jul 2018
  • Reporter: समाचार फर्स्ट

कांगड़ा-चम्बा लोकसभा सांसद शांता कुमार ने कहा कि प्रदेश में नशे का संकट अब बहुत गहरा गया है। सरकार और समाज को गंभीरता के साथ इस पर कोई नीति बनानी होगी। शांता ने कहा कि स्थिति को अभी संभालना होगा, अन्यथा उड़ता पंजाब की तरह कहीं देवभूमि को भी उड़ता हिमाचल न कहना पड़ जाए। सांसद शांता कुमार ने कहा कि प्रदेश सरकार देश में पहली सरकार बने जो इस संबंध में आवश्यक कानून भी बनाए और स्कूलों में नैतिक शिक्षा को शिक्षा का अनिवार्य विषय भी बनाया जाए।

नशे का कारोबार करने वाले समाज के बहुत बड़े शत्रु

उन्होंने कहा कि प्रदेश में नशे के कारोबार में लगे अपराधियों पर अकुंश लगाने पर प्रशासन उतना सक्रिय नहीं है। प्रदेश के विपक्ष से भी मैं अपील करूंगा कि इस विषय पर उनका भी सहयोग और सुझाव मिलना चाहिए। नशे का कारोबार करने वाले समाज के बहुत बड़े शत्रु हैं, ऐसे लोगों की किसी भी प्रकार की सहायता अपराध ही नहीं, बल्कि पाप भी है। उन्होंने कहा कि सरकार, प्रदेश के बुद्धिजीवी और शिक्षक इस समस्या पर गंभीरता से विचार करें। सरकार विपक्ष समेत सभी से सलाह करके अतिशीघ्र इस संकट से निपटने के लिए कार्य योजना बनाए।