शक्ति पीठ श्री नैना देवी श्रावण मेले की तैयारियों के लिए प्रशासन ने कसी कमर

  • 13 Jul 2018
  • Reporter: सुनील ठाकुर

विश्व बिख्यात शक्ति पीठ श्री नैना देवी जी श्रावण नवरात्र मेले को लेकर हिमाचल प्रशासन ने कमर कस ली है। इस संबंध में मंदिर न्यास श्री नयना देवी उपायुक्त विवेक भाटिया ने बैठक में आदेश दिए हैं कि शक्तिपीठ श्री नयनादेवी जी में आगामी 12 से 20 अगस्त  तक लगने वाले श्रावण अष्टमी मेलो के सफल आयोजन के लिए हरेक कर्मचारी व अधिकारी पूरी तनदेही से काम करे। लेकिन अहम बात ये है कि श्री नयना देवी मेले में पहुंचने वाली संगत का पहला पड़ाव आनंदपुर साहिब होता है।

पुरे क्षेत्र में लगभग 25 स्थानों पर रोड मैप लगाए जाएंगे जो कि दर्शाएंगे कि श्रद्धालु कहां पहुच रहे हैं और साथ में यह भी दर्शाएंगे कि किस -किस स्थान पर कौन सी सुविधाएं उपलब्ध हैं। उन्होंने बताया कि मेले के दौरान कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए पुख्ता प्रबन्ध किए जाएंगे तथा नागरिक सुरक्षा व यातायात सुचारू व सुनिश्चित करने के लिए पुलिस, होम गार्ड के अतिरिक्त सेवा दल के जवानों को सभी सैक्टरों में अपनी सेवाएं देने के लिए तैनात किया जाएगा।

                                  

उपायुक्त विवेक भाटिया  कि मेला स्थल के दो स्थानों पर गैस के बड़े-बड़े गुब्बारे लगाए जाएंगे और  मेले के दौरान गुम होने वाले बच्चों को उस स्थान पर रखा जाएगा ताकि गुम होने वाले बच्चों के अविभावक/परिजन उन्हें वहां से सुरक्षित ले जा सकें।   उन्होंने कहा कि मेले के दौरान जब कतरों व अन्य असामाजिक तत्वों पर नजर रखने के लिए सीसीटीवी विजीलैंस टीमें कार्य करेंगेी जो कि सजग, सचेत और प्रशिक्षित होंगी। उन्होंने कहा कि इस कार्य में पुलिस विभाग के अधिकारी भी अपना आवश्यक सहयोग प्रदान करेंगे।       

उन्होंने  बताया कि श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए मेले के दौरान टोबा, घवांडल, सिंहद्वार, तथा बस अडडा में पुलिस सहायता केन्द्र स्थापित किए जाएगें जो कि दिन-रात चैबीसो घण्टे कार्य करेंगे। उन्होंने कहा कि मेले के दौरान किसी भी प्रकार की भगदड़ या अप्रिय घटना को रोकने के लिए पुख्ता प्रबन्ध किए जाएंगे  और बस स्टैण्ड से माता के दरवार तक पैदल रास्तों में कम से कम 5 या 6 बैरियर सौ से 150 मीटर पर स्थापित किए जाऐंगे, ताकि श्रद्धालुओं की भीड़ को रोका जा सके तथा भगदड़ से भी बचा जा सके।