सिरमौर: जंगली फल खाने से 13 बच्चे बीमार, IGMC में दाखिल

  • 20 Sep 2018
  • Reporter: पी. चंद, शिमला

स्कूल से छुट्टी के बाद घर जा रहे बच्चों को रास्ते में जंगली फल खाने मंहगे पड़ गए। सिरमौर के  सरहां के 13 स्कूली बच्चे छुट्टी होने के बाद  घर जाते हुए रास्ते में जंगली फल खाने से बीमार हुए है। जिन्हें  प्राथमिक उपचार के लिए पहले नाहन अस्पताल लाया गया  जहा से  उन्हें आईजीएमसी रेफर कर किया गया। बच्चों को गंभीर हालत में आईजीएमसी में भर्ती करवाया। जिनमें  ढाई से लेकर नौ साल तक के बच्चे शामिल हैं। कुछ बच्चे आंगनबाड़ी तो कुछ स्कूल में पढ़ाई करते है। 

आईजीएमसी के चिल्ड्रन वार्ड में इनका उपचार किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि जब बच्चे स्कूल से घर जा रहे थे तो उन्हें रास्ते में जंगली फल दिखाई दिए। ऐसे में बच्चो ने भी सोचा की यह फल मिठे है, इन्हें क्यों न खाए जाए। बच्चों ने फल खाने शुरू किए। जब बच्चें घर पहुंचे तो अभिावक ने देखा की कुछ बच्चे के पेट में दर्द तो कहियों के सिर में दर्द हो रहा था। यहां तक कुछ बच्चों को बुखार आना भी शुरू हो गया था। अभिभावक ने बच्चों की जब पूछताछ की तो उन्होंने बताया की रास्ते में उन्होंने जंगली फल खाए है। 

आईजीएमसी के एमएस डॉ. जनक राज का कहना है कि बच्चों ने जटरोफियां नामक प्वाईजन खाया है। जो कि जंगली फल में पाया जाता है। जिससे वे बीमार हुए है। अब सभी बच्चे की हालत स्थिर बताई जा रही है। उन्होंने कहा कि एक या दो दिन के अंदर सभी बच्चे वापिस भेज दिए जाएगे।