फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ने हमारे प्रधानमंत्री को झूठा कहा, सफाई दें मोदी: राहुल

  • 22 Sep 2018
  • Reporter: समाचार फर्स्ट डेस्क

राफेल विमान खरीद मामले पर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के बयान के बाद राहुल गांधी ने मोदी सरकार के खिलाफ और तल्ख तेवर अपना लिए हैं। कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि पहली बार फ्रांस का कोई राष्ट्रपति हमारे प्रधानमंत्री को चोर कह रहा है। राहुल ने प्रधानमंत्री मोदी की चुप्पी पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्हें हैरानी होती है कि हमेशा बोलने वाले पीएम मोदी इस गंभीर मुद्दे पर चुप हैं। उन्हें ओलांद के बयान पर सफाई देनी चाहिए।

राहुल गांधी ने कहा कि फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ने भारत के पीएम को लेकर एक बयान दिया है। ओलांद ने राफेल डील के बारे में कहा है, 'अनिल अंबानी की कंपनी को चुनने में उनका कोई रोल नहीं था। भारत सरकार ने इसका प्रस्ताव दिया था।' राहुल ने आरोप लगाया, 'ओलांद के बयान से साफ है कि पीएम मोदी राफेल पर झूठ बोल रहे हैं। मोदी ने 30,000 करोड़ की डील अनिल अंबानी की कंपनी को दे दी। अगर ऐसा नहीं है तो पीएम मोदी को जवाब देना चाहिए। उन्होंने तंज कसते हुए कहा, 'मैं पीएम की कुर्सी की रक्षा करना चाहता हूं।'

कांग्रेस अध्यक्ष ने रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण को भी निशाने पर लिया। उन्होंने कहा, ' पूर्व रक्षा मंत्री ने कहा कि जब कॉन्ट्रैक्ट बदला गया तो उन्हें नहीं पता था। निर्मला सीतारमण पहले कहती हैं कि मैं रेट बताऊंगी, लेकिन उसके बाद मना कर देती हैं।' राहुल गांधी ने कहा कि रक्षा मंत्रीने संसद में झूठ बोला है।

गौरतलब है कि फ्रांस की एक न्यूज़ वेबसाइट मीडियापार्ट में शुक्रवार को एक लेख छपा। फ्रेंच भाषा में छपे इस लेख में फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के हवाले से कहा गया है कि अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस के साथ करार करने में फ्रांस सरकार की कोई भूमिका नहीं थी। इस लेख के बाद ही मोदी सरकार के खिलाफ विपक्ष के हाथ में बड़ा हथियार आ गया है। इस मामले में पीएम मोदी की तरफ से भी कोई सफाई नहीं दी गई है। ऐसे में कांग्रेस लगातार उनसे मामले में स्थिति स्पष्ट करने की मांग कर रही है। कांग्रेस समेत विपक्ष दल राफेल डील में हुई तब्दीली को बड़ा स्कैम बता रहे हैं।