अध्यक्ष पद से हटाने के बाद भी सक्रिय हैं सुक्खू!, AIIMS पर मोदी सरकार को घेरा

  • 11 Jan 2019
  • Reporter: पी. चंद

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू को बेशक पार्टी ने हटा दिया हो, लेकिन पार्टी को मजबूत करने के लिए अभी भी सुक्खू ग्राउंड पर हैं। शुक्रवार को सुक्खू बिलासपुर के झंडूता पहुंचे जहां उन्होंने बीजेपी पर सीधा हमला बोला। सुक्खू ने कहा कि पीएम मोदी यहां के लोगों को सिर्फ एम्स का लॉलीपॉप थमा गए। एम्स को पूर्व यूपीए सरकार ने मंजूर किया था, बावजूद इसके केंद्र की मोदी सरकार इसका निर्माण नहीं करवा पाई।

सुक्खू ने कहा कि यहां तक कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री भी बिलासपुर से थे, मगर उनकी भी नहीं चली। हमीरपुर संसदीय क्षेत्र के सांसद अनुराग ठाकुर तो एम्स को लेकर जनता को गुमराह ही करते रहे। अनुराग को एम्स निर्माण की कभी चिंता ही नहीं रही, वह सिर्फ इसे मंजूर कराने का ही ढिंढोरा पीटते रहे। सांसद ने कभी एम्स निर्माण का मुद्दा केंद्र सरकार के समक्ष उठाया ही नहीं। स्थिति ये है कि मोदी के एम्स का शिलान्यास करने के बाद भी निर्माण कार्य ठप है। जनता केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा व सांसद अनुराग ठाकुर से जानना चाहती है कि एम्स में स्वास्थ्य सुविधाएं कब मिलनी शुरू होगी।

सूक्खू ने कहा कि बीजेपी सरकार ने हर मामले में झूठ ही बोला है। हाइड्रो इंजीनियरिंग कॉलेज भी मूर्त रूप नहीं ले पाया। इसे लेकर भी मोदी सरकार ने बड़े-बड़े दावे किए थे। सूक्खू ने भानुपल्ली-बिलासपुर-लेह रेल मार्ग को लेकर भी मोदी सरकार और अनुराग ठाकुर पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि अनुराग झूठ की राजनीति करते हैं। न ही साढ़े चार साल में वह बिलासपुर में रेल लाइन पहुंचाने का सर्वे करा पाए न ही हमीरपुर तक। जनता अब उनसे बीते 15 साल के सांसद कार्यकाल का हिसाब मांग रही है।

हिमाचल में 30 साल बाद पैरों पर खड़ा हुआ संगठन

AICC सचिव राजेश धर्माणी ने कहा है कि हिमाचल में कांग्रेस संगठन 30 साल बाद अपने पैरों पर खड़ा हुआ। इसका पूरा श्रेय सुखविंद्र सिंह सूक्खू को जाता है। सूक्खू ने संगठन को घर-घर और बूथ तक पहुंचाया। हर जगह संगठन का दिखना सूक्खू और उनकी टीम की मेहनत का नतीजा है। उन्होंने संगठन में युवाओं और आम आदमी को तवज्जो दी, जिससे संगठन धरातल पर मजबूत हुआ।