भारतीय टीम 92 रनों पर सिमटी, न्यूजीलैंड के खिलाफ टीम का दूसरा सबसे कम स्कोर

  • 31 Jan 2019
  • Reporter: डेस्क

न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में 3-0 से अजेय बढ़त लेने के बाद हेमिल्टन में चौथा वनडे खेला  जा रहा है। न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने टॉस जीतकर टीम इंडिया को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया।  भारतीय बल्लेबाजों ने बोल्ट के सामने सरेंडर किया और पूरी टीम 30.5 ओवर में 92 रन पर ढेर हो गई।  जवाब में मेजबान टीम ने 14.4 ओवर में दो विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया। इसी के साथ कीवी टीम ने पांच मैचों की सीरीज का अंतर 1-3 कर दिया है। सीरीज का पांचवां व अंतिम वन-डे रविवार को वेलिंगटन में खेला जाएगा।

93 रन के आसान लक्ष्य का पीछा करने उतरी न्यूजीलैंड को पहला झटका भुवनेश्वर कुमार ने दिया। उन्होंने मार्टिन गप्टिल (14) को हार्दिक पांड्या के हाथों कैच आउट कराया। इसके बाद भुवी ने कीवी कप्तान केन विलियमसन (11) को विकेटकीपर कार्तिक के हाथों कैच आउट कराकर न्यूजीलैंड का दूसरा विकेट गिराया। 39 रन पर दो विकेट गिरने के बाद निकोल्स और टेलर ने मेजबान टीम को कोई और नुकसान नहीं होने दिया व कीवी टीम को जीत दिलाई।
 
न्यूजीलैंड के खिलाफ 105वें वनडे में भारतीय टीम अपने इस प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ इतने कम रनों पर सिमट गई। यानी 44 साल में न्यूजीलैंड के विरुद्ध भारत का यह दूसरा न्यूनतम स्कोर है। कीवियों के खिलाफ भारतीय टीम का सबसे कम स्कोर 88 रन है, जब वह दांबुला में अगस्त 2010 में 88 रनों पर ऑल आउट हो गई थी। न्यूजीलैंड की धरती पर उसके खिलाफ भारत का यह (92 रन) न्यूनतम स्कोर है।

भारत की ओर से युजवेंद्र चहल ने सबसे अधिक नाबाद 18 रन बनाए। भारत के सात बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा नहीं पार कर सके। न्यूजीलैंड की ओर से ट्रेंट बोल्ट ने 21 रन देकर सबसे अधिक पांच विकेट चटकाए, जबकि कॉलिन डि ग्रैंडहोम को तीन विकेट मिले। एक समय भारत ने 40 रनों पर अपने सात विकेट गंवा दिए थे। उस पर अपने अब तक के न्यूनतम स्कोर 54 रनों पर आउट होने का खतरा मंडरा रहा था, लेकिन हार्दिक पंड्या ने 16 रनों (चार चौके) की तेज पारी खेल कर यह संकट टाला। हार्दिक के अलावा कुलदीप यादव ने भी 15 रन बनाए।

अपने 200वें मैच में कप्तान रोहित शर्मा 7 रन ही बना पाए। शिखर धवन (13) के अलावा डेब्यू करने वाले शुभमन गिल (9) भी असफल रहे, जबकि अंबति रायडू और दिनेश कार्तिक खाता तक नहीं खोल सके। केदार जाधव और भुवनेश्वर कुमार एक-एक रन बनाकर लौटे। खलील अहमद पांच रन बना सके।