पूर्व सैनिकों और शहीदों के आश्रितों को आउटसोर्स के आधार पर मिलेगी नौकरी

  • 16 Oct 2019
  • Reporter: नवनीत बत्ता

हिमाचल प्रदेश पूर्व सैनिक निगम हमीरपुर पूर्व सैनिकों और सैन्य सेवाओं के दौरान शहीद/अक्षम/मृतक सैनिकों के पूर्ण आश्रितों के कल्याण के लिए कृतसंकल्प है। यह बात निगम के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक ब्रिगेडियर (रि.) खुशहाल ठाकुर ने कही।

उन्होंने कहा कि पूर्व सैनिकों एवं सैन्य सेवाओं के दौरान शहीद/अक्षम/मृतक सैनिकों के पूर्ण आश्रितों को विभिन्न परियोजनाओं, सरकारी विभागों और लोक उपक्रमों इत्यादि में निगम के माध्यम से आऊटसोर्स आधार पर सुरक्षा संबंधी व अन्य सेवाओं में भर्ती किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस तरह की भर्ती के लिए निगम के पास पूर्व में कोई डाटा बैंक उपलब्ध न हो पाने के कारण प्रशासनिक स्तर पर कई कठिनाईयां आती रही हैं और पूर्व सैनिकों व उपरोक्त आश्रितों को भी परेशानी रहती थी।

उन्होंने कहा कि भविष्य में निगम द्वारा सुरक्षा गार्ड, आर्म गार्ड, सुरक्षा सुपरवाईजर, डाटा एंट्री ऑपरेटर्ज, चालक, रसोईया, पी.एस.ओ., वायरलेस ऑपरेटर, हैल्पर, चौकीदार, चपरासी इत्यादि के पदों पर आऊटसोर्स आधार पर की जाने वाली भर्ती के लिए पंजीकरण अनिवार्य किया जा रहा है। निगम द्वारा पंजीकरण व डाटा बैंक तैयार करने के लिए तैयारियां पूर्ण की जा रही हैं और यह प्रक्रिया एक नवंबर, 2019 से प्रारंभ होगी। इसके उपरांत प्रत्येक पूर्व सैनिक व उनके उपरोक्त परिभाषित आश्रितों को एक पंजीकरण संख्या जारी की जाएगी।

उन्होंने कहा कि निगम इन पदों व सेवाओं के अतिरिक्त मूल नियोक्ता की आवश्यकता अनुसार तय मानकों व नियमों के अंतर्गत किसी अन्य पद के लिए भी आऊटसोर्स आधार पर भर्ती कर सकता है।

उन्होंने आग्रह किया कि इच्छुक पूर्व सैनिक व उपरोक्त उल्लिखित आश्रित दिनांक 1 नवंबर, 2019 या उसके उपरांत किसी भी कार्य दिवस पर अपनी डिस्चार्ज बुक व जिला सैनिक कल्याण कार्यालय द्वारा जारी किए गए आश्रित प्रमाण पत्र को साथ लाकर अपना पंजीकरण करवा सकते हैं। पंजीकरण के लिए कोई यात्रा भत्ता देय नहीं होगा।