गूगल ने इस डॉक्टर का बनाया डूडल, आज ही के दिन मिली थी खास उपाधि

  • 01 Oct 2019

गूगल ने आज खास डूडल बनाकर मनोचिकित्सक डॉक्टर हरबर्ट डेविड क्लेबर को याद किया है। डॉ. हरबर्ट डेविड क्लेबर वह डॉक्टर हैं जिन्हें नशे की लत से छुटकारा दिलाने में माहिर माना जाता था। उन्होंने नशे को एक नैतिक विफलता के बजाय एक चिकित्सा स्थिति के रूप में देखा। गूगल ने आज डूडल इसलिए बनाया है क्योंकि 23 साल पहले आज ही के दिन उन्हें नेशनल एकेडमी ऑफ मेडिसिन का सदस्य चुना गया था।

डॉक्टर क्लेबर का जन्म

हरबर्ट डेविड क्लेबर का जन्म 19 जून, 1934 को पेन्सिलवेनिया के पिट्सबर्ग में हुआ था। डॉ. क्लेबर ने डार्टमाउथ कॉलेज में चिकित्सा का अध्ययन किया, जहां उन्होंने पाया कि मनोविज्ञान में उनकी दिलचस्पी है। उन्होंने तीन वर्षों तक लोगों को नशे की लत छुड़ाने में मदद की, लेकिन बाद में उन्हें एहसास हुआ कि इस तरह के इलाज के लिए एक नए वैज्ञानिक रिसर्च की जरूरत है।

एक अमेरिकी मनोचिकित्सक और मादक द्रव्यों के सेवन शोधकर्ता थे। 1968 में उन्होंने येल विश्वविद्यालय में ड्रग डिपेंडेंस यूनिट की स्थापना की, जहां वे मनोचिकित्सक थे। उन्होंने 1989 तक यूनिट का नेतृत्व किया। उन्होंने तब व्हाइट हाउस में नेशनल ड्रग कंट्रोल पॉलिसी के कार्यालय में डिमांड रिडक्शन के लिए डिप्टी डायरेक्टर के रूप में ढाई साल तक सेवा की।

डॉ. क्लेबर ने लत और मादक द्रव्यों के सेवन को लेकर राष्ट्रीय केंद्र की स्थापना की, और कोलंबिया विश्वविद्यालय में मादक द्रव्यों के सेवन को लेकर एक विभाग स्थापित किया। उन्होंने शराब, कोकीन, हेरोइन और शराब जैसे नशे के आदि व्यक्तियों के इलाज के लिए नए तरीकों को विकसित करने पर कई परियोजनाओं पर काम किया। पांच अक्तूबर, 2018 को डॉ क्लेबर का निधन हो गया।