BSL नहर से 9 दिन बाद मिला HRTC चालक का शव, मौके पर 3 घंटे देरी से पहुंची पुलिस

  • 09 Oct 2019
  • Reporter: सचिन शर्मा

सुंदरनगर की जनता ने पुलिस थाना सुंदरनगर की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान खड़े कर दिए हैं। लोगों का कहना है कि पुलिस नेताओं की आवभगत में सुबह 7 बजे से सड़क पर तैनात रही। लेकिन पुलिस ने मृतक के शव की शिनाख्त कराने के लिए सुंदरनगर थाने से बीएसएल जलाशय आने के लिए 3 घंटे का समय लगा दिया। मौके पर मृतक के परिजन जलाशय के बाहर खड़े होकर अपने लापता संबंधी नरेंद्र कुमार के शव की शिनाख्त करने के लिए तरसते रहे और यह सब 3 घंटे के बाद पुलिस के आने पर संभव हुआ।

पुलिस के आने के बाद जलाशय से मिले शव की शिनाख्त की गई तो 30 सितंबर की रात को बल्ह उपमंडल के बग्गी के गांव केंचड़ी निवासी 33 वर्षीय नरेंद्र कुमार के रूप में हुई। वहीं, मौके पर मौजूद परिजनों द्वारा पुलिस की इस प्रकार की कार्यप्रणाली के खिलाफ जमकर गुस्सा फूटा और परिजनों ने संबंधित पुलिस अधिकारियों के खिलाफ विभागीय जांच की मांग की है।

गौरतलब है कि एचआरटीसी रोहडू डिपो में अनुबंध पर बतौर चालक तैनात नरेंद्र कुमार बीते 30 सिंतबर की रात को अचनाक परिजनों के साथ-साथ चलते हुए बीएसएल नहर के तेज बहाव में गिरने से लापता हो गया था। वहीं परिजनों द्वारा बीएसएल नहर पर रगड़ के निशान पाए जाने पर घटना की सूचना बल्ह पुलिस थाना को दी थी। बल्ह पुलिस ने मौके पर लापता नरेंद्र कुमार को ढूंढने के लिए सर्च ऑपरेशन भी चलाया था। इसमें कोई सफलता प्राप्त नहीं हुई थी। वहीं बुधवार को हादसे के 9 दिन बाद लापता नरेंद्र कुमार का शव बीएसएल जलाशय सुंदरनगर से मिल गया है।

बुधवार सुबह सुंदरनगर बीएसएल जलाशय में ड्रेजरों पर तैनात कर्मियों ने अर्जुन नामक ड्रेजर में एक शव फंसा हुआ पाया। इस पर ड्रेजर डयूटी पर तैनात कनिष्ठ अभियंता राहुल सैनी ने शव की मौजूदगी की सूचना तुरंत सुंदरनगर पुलिस को दी गई। साथ ही मामले की सूचना बीबीएमबी कर्मियों द्वारा लापता नरेंद्र कुमार के परिजनों को भी दी। इस पर लापता नरेंद्र कुमार के परिजन भी बीबीएमबी जलाशय पर पहुंच गए। घटना की सूचना मिलने के 3 घंटे बाद मौके पर सुंदरनगर पुलिस के जवान पहुंचे और बीबीएमबी कर्मचारियों ने शव को नहर से बाहर निकाल कर जांच शुरू कर दी। शव को आगामी कार्रवाई के लिए बल्ह पुलिस थाना की टीम को सुपूर्द कर दिया गया है। बल्ह पुलिस द्वारा शव का पोस्टमार्टम सिविल अस्पताल सुंदरनगर में करवा कर परिजनों के हवाले कर दिया है।

बीएसएल जलाशय से शव मिलने के मामले में सुंदरनगर पुलिस प्रशासन के संवेदनहीन कार्यप्रणाली को लेकर स्थानीय निवासी अश्विनी सैनी ने मुख्यमंत्री सेवा संकल्प 1100 पर डीएसपी व एसएचओ सुंदरनगर के खिलाफ शिकायत दर्ज करवा दी है। शिकायतकर्ता ने अपनी शिकायत में संबंधित अधिकारियों द्वारा अपनी निहित डयूटी नहीं निभाते हुए सूचना मिलने के 3 घंटे उपरांत मौके पर पुलिसकर्मियों को भेजने पर विभागीय जांच की भी मांग की है। अश्विनी सैनी ने कहा कि मौके पर 3 घंटे बाद भी पुलिस एसपी मंडी को फोन करने के उपरांत पहुंच पाई।

बीएसएल जलाशय से शव प्राप्त होने के तुरंत बाद ड्रेजर डयूटी तैनात कनिष्ठ अभियंता राहुल सैनी द्वारा सुबह 8 बजकर 45 मिनट पर सुंदरनगर पुलिस को सूचना दे दी गई थी। लेकिन मौके पर मौजूद मृतक नरेंद्र कुमार के परिजन,नहर से बाहर लाश निकालने वाला कर्मी व अन्य 3 घंटों तक पुलिस के इंतजार में टकटकी लगा कर बैठे रहे। वहीं एसपी मंडी गुरदेव चंद शर्मा को फोन करने के उपरांत 11 बजकर 30 मिनट पर मौके पर एचसी पवन कुमार के नेतृत्व में पुलिस टीम ने पहुंच कर कार्रवाई शुरू की।