2025 तक भारत की अर्थव्यवस्था होगी 5 ट्रिलियन डॉलर : अनुराग

  • 04 Oct 2019
  • Reporter: पी. चंद, शिमला

केंद्रीय वित्त एवं कार्पोरेट मामले राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने वीरवार को शिमला में आयोजित ग्राहक मेले का शुभारंभ किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि 2025 तक भारत की अर्थव्यवस्था 5 ट्रिलियन डॉलर होगी और बैंकिंग सेक्टर इस दिशा में बेहतर काम कर रहा है। 3 से 7 अक्टूबर तक देश भर के बैंक 250 जगहों में पर इस तरह के ग्राहक मेले किये जा रहे हैं। पैसा लोगों के बीच वितरित किया जा रहा है ताकि लोग अपना कारोबार और व्यवसाय अच्छे से चला सके जिससे देश कि अर्थव्यवस्था को मजबूती मिलेगी।

अनुराग ठाकुर ने कहा कि पूरी दुनिया में मंदी का असर है लेकिन भारत ने फिर भी इस दौर में अच्छा काम किया है। इस तरह के कार्यक्रमों से यह तय किया जाएगा कि जनता को बैंकों से अपनी जरूरतों के लिए ज्यादा से ज्यादा पैसा मिले। ग्राहक सम्पर्क पहल के जरिए सभी बैंक विभिन्न ऋण योजनाओं को लोगों तक पहुंचाने के लिए प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार ने देश में निवेश आकर्षित करने के लिए मौजूदा कंपनियों के लिए मूल कार्पोरेट कर की दर को मौजूदा 30 प्रतिशत से घटाकर 22 प्रतिशत कर दिया है। इसके साथ ही एक अक्टूबर 2019 के बाद लगने वाली नई विनिर्माण इकाईयों के लिए कर की दर को घटाकर 15 प्रतिशत पर लाया गया है। सरकार के इस कदम से अगले 2 साल में भारत दुनिया भर लिए निवेश का केंद्र बन जाएगा।

अनुराग ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इस पर जोर है कि हर गरीब का खाता बैंक में हो । इसके लिए जनधन योजना शुरू कर हर व्यक्ति को बैंकिंग सेवा से जोड़ने का काम किया गया । इसके तहत 36 करोड़ नए बैंक खाते खुले, जिनमें 1.60 लाख करोड़ जमा हुए। इसके अतिरिक्त मोदी सरकार ने मुद्रा योजना के जरिए करोड़ों गरीबों को लाखों करोड़ रुपए की सहायता दी। इससे गरीबों के जीवन में बड़ा परिवर्तन आया है।