इंदौरा पुलिस ने कबूतरबाजी के आरोप में 2 धरे, युवक से विदेश भेजने के नाम पर ठगे थे 2 लाख

  • 10 Oct 2019
  • Reporter: मनोज धीमान

कांगड़ा के इंदौरा में पुलिस ने एक व्यक्ति से विदेश भेजने के नाम पर 2 लाख रुपये ऐंठने और कथित रूप से कबूतरबाजी के दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस को पिछले एक साल से अधिक अर्से से आरोपियों की तलाश थी और आरोपी पिछले एक वर्ष से पुलिस से लुकाछुपी कर रहे थे। लेकिन रात को इंदौरा पुलिस ने मामले के दोनों आरोपियों को धर दबोचा। दोनों आरोपी पंजाब के जिला गुरदासपुर के रहने वाले हैं।

मामले के संदर्भ में जानकारी देते हुए सहायक उप निरीक्षक मनजीत मनकोटिया ने बताया कि इंदौरा के समीपवर्ती गांव कुड़सां निवासी सागर ने 16 सितम्बर 2018 को पुलिस थाना इंदौरा में प्राथमिकी दर्ज करवाई थी। जिसमें उसने आरोप लगाया था कि अरुण शर्मा पुत्र रमेश शर्मा निवासी गृह संख्या 174/16 स्थित कृष्णा नगर गुरदासपुर ( पंजाब ) और विकास कुमार पुत्र विक्टर, निवासी गुरदासपुर स्थित बरंडा ( पंजाब ) ने उसे बताया था कि वे लोगों को विदेश भेजने का काम करते हैं और वहां पर नौकरी भी दिलवाते हैं। जिस पर वह उनके झांसे में आ गया और पेशगी के रूप में आरोपियों ने उससे 2 लाख रुपये हड़प लिए लेकिन उसे जब काफी अर्से के बाद विदेश न भेजा गया तो अपने स्तर पर जांच-पड़ताल करने पर पाया गया कि उक्त दोनों के पास विदेश भेजने अथवा वहां नौकरी दिलवाने की कोई अथॉरिटी नहीं है। जिस पर उसने उनसे अपने पैसे वापस चाहे, लेकिन वे उसे कबूतरबाजी कर ठग गए। जिस पर उनके विरुद्ध पुलिस थाना इंदौरा में भारतीय दण्ड विधान की धारा 420, 406, 506 व 120बी के अंतर्गत मुकदमा दर्ज किया गया। ऊधर आरोपी तभी से पुलिस की गिरफ्त से बाहर चल रहे थे।

वहीं, पुलिस गत एक वर्ष से उनकी धर-पकड़ के लिए संभावित स्थानों पर छापामारी कर रही थी। लेकिन आरोपी हर बार पुलिस की आंखों में धूल झोंकने में सफल रहे। जिन्हें आज सहायक उप निरीक्षक मनजीत मनकोटिया, मुख्य आरक्षी अशोक पठानिया और पुलिस टीम ने धर दबोचा। आरोपियों ने पुलिस के समक्ष अपना जुर्म कबूल किया है और पुलिस ने उनसे 40 हजार रुपए की राशि की रिकवरी भी कर ली है। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। जिन्हें आज न्यायालय में रिमांड के लिए पेश किया गया जिसमें न्यायालय ने उनको पांच दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा गया ।