नाहन: सलानी नदी में रहस्यमय तरीके से तड़प-तड़प कर मर गई सैकड़ों मछलियां

  • 10 Oct 2019
  • Reporter: समाचार फर्स्ट डेस्क

नाहन की सैनवाला पंचायत के साथ बह रही सलानी नदी में सैकड़ों मछलियां तड़प-तड़प कर मर गई हैं। माना जा रहा है कि सलानी क्षेत्र में चल रहे एक उद्योग द्वारा रसायनयुक्त पानी नदी में छोड़े जाने से मछलियां मर गईं। ग्रामीणों ने इसकी शिकायत मत्स्य विभाग के साथ साथ प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से की है। जानकारी मुताबिक उद्योग के प्रदूषित पानी से सलानी की नदी में सैकड़ों की संख्या में मछलियां मर गई हैं। ग्रामीणों ने नदी में मृत मछलियों को देखा तो मत्स्य पालन विभाग के स्थानीय कर्मचारी को सूचित किया। मत्स्य पालन विभाग के क्षेत्रीय सहायक दर्शन लाल ने मौके का मुआयना किया और मछलियों को मृत पाया।

ग्रामीणों ने तड़प कर मर रहीं मछलियों की वीडियो भी बनाई। इस दौरान ग्रामीणों ने घटना की सूचना प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों को भी दी। स्थानीय लोगों ने बताया कि सलानी नदी में बड़ी संख्या में मछलियां का एक साथ मर गई हैं। जाहिर है कि उद्योग का प्रदूषित पानी नदी में छोड़ा गया है। उन्होंने बताया कि ग्रामीणों को मवेशियों की चिंता सताने लगी है क्योंकि अधिकांश ग्रामीणों के मवेशी नदी का पानी पीते हैं। ऐसे में प्रदूषित जल पीने से मवेशियों की जान भी जा सकती है।

वहीं, क्षेत्र में चल रही पेयजल योजनाओं पर भी इसका प्रतिकूल असर हो सकता है। ग्रामीणों ने संबंधित विभागों से मामले में कड़ी कार्रवाई की मांग की है। फिलहाल, मत्स्य विभाग द्वारा नदी से पानी के सैंपल ले लिए गए हैं। यदि नदी में किसी उद्योग का कैमिकल पाया जाता है तो उसके खिलाफ मामला दर्ज करवाया जाएगा।