गुड़िया मामला: पूर्व SHO सहित 3 आरोपी पुलिसवालों की जमानत खारिज

  • 10 Oct 2019
  • Reporter: समाचार फर्स्ट डेस्क

शिमला के चर्चित कोटखाई गैंगरेप और मर्डर केस से जुड़े सूरज कस्टोडियल डेथ मामले में आरोपी तीन पुलिस कर्मियों की जमानत कोर्ट ने खारिज कर दी है। बुधवार को इस मामले में चंडीगढ़ में सीबीआई कोर्ट में सुनवाई हुई और कोर्ट ने मामले में आरोपी तीन पुलिस वालों की जमानत याचिका खारिज कर दी। इस दौरान तीन गवाहों की गवाही भी हुई है। दो डॉक्टरों के अलावा, मामले के आरोपी रहे आशीष चौहान ने भी अपने बयान दर्ज करवाए हैं।

यह है मामला

बता दें कि 18 जुलाई 2017 को कोटखाई थाने  में सूरज की संदिग्ध मौत हो गई। सीबीआई जांच में सामने आया है कि पुलिस टॉर्चर से सूरज की मौत हुई है। इस मामले में सीबीआई ने पूर्व आईजी जैदी, शिमला के पूर्व एसपी नेगी सहित कुल नौ पुलिस कर्मियों को गिरफ्तार किया था। अब आरोपी पूर्व एसएचओ राजिंद्र सिंह, रफीक अली और कांस्टेबल रंजीत ने कोर्ट में जमानत याचिका दाखिल की थी, जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया है। मामले की अगली सुनवाई 24 अक्टूबर को होगी।

जंगल में मिली थी नाबालिग की लाश

गौरतलब है कि शिमला से 60 किलोमीटर दूर कोटखाई में 4 जुलाई 2017 को एक स्कूली छात्रा लापता हो गई थी। दो दिन बाद जंगल से उसका शव बरामद हुआ था। इस मामले में पुलिस ने कुल 6 लोगों को गिरफ्तार किया। इनमें एक आरोपी सूरज था, जिसकी कोटखाई थाने में 18 जुलाई 2017 को हत्या कर दी गई। सीबीआई जांच में सामने आया कि सूरज की मौत पुलिस टॉर्चर के कारण हुई थी।