सिरमौर: आर्थिक मंदी, महंगाई और बेरोजगारी को लेकर कांग्रेस का सरकार के खिलाफ हल्ला बोल

  • 06 Nov 2019
  • Reporter: नवनीत बत्ता

आर्थिक मंदी, महंगाई व बेरोजगारी जैसे कई मुद्दों को लेकर सिरमौर कांग्रेस कमेटी ने नाहन में प्रदेश व केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर किए गए प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस नेताओं ने सरकार की जमकर घेराबंदी की। कांग्रेस ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि देश में महंगाई, बेरोजगारी और अपराध बढ़ गया है और पीएम मोदी इनको रोकने की बजाय विदेशों में घूम रहे हैं। उन्होंने कहा कि पिछले दिनों से पेट्रोल के साथ प्याज ,सब्जी और अन्य वस्तुओं की कीमत लगातार बढ़ रही है। जिसका सीधा असर जनता पर पड़ रहा है। मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में एक्साइज ड्यूटी बढ़ी और दूसरे कार्यकाल के पहले बजट में भी इसे बढ़ा दिया गया। अब एक्साइज ड्यूटी बहुत ज्यादा बढ़ गई है।

कांग्रेस ने सवाल करते हुए कहा कि हम जानना चाहते हैं कि सरकार मंहगाई कम करने के लिए क्या कर रही है। कांग्रेस के जिला अध्यक्ष सोलंकी ने बेरोजगारी पर सरकार को घेरते हुए कहा कि एक अनुमान के मुताबिक, मौजूदा समय में करीब आठ करोड़ लोग बेरोजगार हैं। दूसरी तरफ कुछ महीने में ही लाखों लोगों की नौकरी चली गयी। ऑटो क्षेत्र में मंदी बढ़ती जा रही है, विनिर्माण इकाइयां बंद हो रही हैं, कृषि में भी रोजगार घट रहा है। किसान आत्महत्या कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस समय सरकार और समाज के लिए बड़ी चुनौती युवाओं की ऊर्जा का सकारात्मक रूप से इस्तेमाल करना है। अगर ऐसा नहीं हुआ तो देश और समाज के लिए खतरा बढ़ सकता है।

हर्षवर्धन ने कहा कि महिलाओं के खिलाफ अपराध लगातार बढ़ रहे हैं। हिमाचल में भी महिलाओं से दिन प्रतिदिन छेड़छाड़ की घटना हो रही हैं , और जयराम सरकार कुछ नहीं कर रही है, नशे का कारोबार बढ़ रहा, खुलेआम अवैध खनन हो रहा है उसको रोकने के लिए लिए हिमाचल सरकार क्या कर रही है। न बरसात में हुए नुकसान का ज्याजा लिया जा रहा न सड़कों की हालत सुधारी जा रही है ,कई जगह तो पानी के लिए तरस रहे हैं। लोगो के पास पीने के लिए पानी नहीं है , 5 दिन बाद पानी आ रहा है , कानून व्यवस्था पूरी तरह चरमरा रही है, जयराम सरकार पूरी तरह फैल हो गई है। बीजेपी की करनी और कथनी को देख लिया है।

उन्होंने मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी बोलते हैं कि स्मार्ट सिटी बनाएंगे, अच्छी बात है। लेकिन हमारा कहना है कि स्मार्ट सिटी से पहले देश और प्रदेश की राजधानी को सुरक्षित करिए। जहां पर हर रोज कोई न कोई कांड हो रहा है और जो गोद लिए गांव है उनके बारे में भी सोचिए उन गांवों की हालत पहरे से भी खराब हो चुकि है।