रामपुर लवी मेले में सूफी गायक कैलाश खैर बिखेरेंगे गायकी के जलवे, 11 से 14 नवंबर तक चलेगा मेला

  • 08 Nov 2019
  • Reporter: पी. चंद, शिमला

रामपुर के अंतरराष्ट्रीय लवी मेले में इस बार सूफ़ी गायक कैलाश खैर अपनी आवाज का जादू बिखेरेंगे। 11 से 14 नवंबर तक चलने वाले लवी मेले की अंतिम सांस्कृतिक संध्या कैलाश खैर के नाम रहेगी। मेले का शुभारंभ 11 नवंबर को राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय करेंगे जबकि समापन 14 नवंबर को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर करेंगे। मेले की पहली सांस्कृतिक संध्या में लोकल कलाकार सहित हरी संधू, ठाकुरदास राठी , 12 को गीता भारद्वाज, इन्द्रजीत सुजाता मज्नूम्दार ,13 को बुशहरी नाईट में स्थानीय कलाकारों सहित विकी चौहान, हेमंत शर्मा और डिंपल शर्मा और अंतिम संध्या में कैलाश खैर होंगे।

उपायुक्त शिमला अमित कश्यप ने बताया कि लवी मेला लगभग 300 साल पुराना मेला है। जिसमें पंजाब, हरियाणा, उतराखंड और जम्मू कश्मीर से व्यापारी अपने उत्पादों को बेचने पहुंचने हैं। मेले का मुख्य मकसद व्यापार है और सूखे मेवे भी मेले में आकर्षण का केंद्र रहते हैं। जिसके लिए इस बार अलग से स्टाल की व्यवस्था की गयी है। स्टाल को लगाने की अनुमति दिसम्बर के पहले हफ्ते तक रहेगी। जिला प्रशासन ने सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम किया गया है।

वहीं, जिला उपायुक्त अमित कश्यप ने बताया कि प्रदेश में युवाओं में बढ़ता नशा चिंता का विषय है। नशे के बढ़ते प्रचलन को देखेते हुए 15 नवंबर से 15 दिसंबर तक प्रदेश भर में एंटी ड्रग अभियान चलाया जाएगा।स्कूल और कॉलेज के छात्रों से सीधा संवाद किया जाएगा और नशे के कुप्रभाव के बारे जागरूक किया जायेगा। बच्चों के मां बाप से भी चर्चा की जाएगी बच्चों के साथ ज्यादा से ज्यादा बातचीत करे उनकी समस्याओ को समझे। स्कुलों के अध्यापकों को भी बच्चों से बात करने और नशे के दुष्प्रभावों को लेकर बच्चों को जागरूक करने को लेकर कहा जायेगा। जो बच्चे नशे के दलदल में फस गए हैं उनकी काउंसलिंग की जाएगी।ताकि वे इससे बाहर आ सके।

उपायुक्त अमित कश्यप ने बताया कि बर्फबारी और बारिश से निपटने के लिए संबंधित सभी विभागों के अधिकारियों और कमर्चारियों को निर्देश दे दिए गए हैं। स्कुलों को भी निर्देश दिये गए हैं कि बर्फबारी की संभावना के समय सावधानी बरतें ताकि बच्चों को किसी तरह की परेशानी न हो सके।