आज अन्नदाताओं के लिए मनाया जाता है राष्ट्रीय किसान दिवस

  • 23 Dec 2019
  • Reporter: समाचार फर्स्ट डेस्क

हर साल की तरह इस साल भी किसान दिवस 23 दिसंबर को मनाया जाता है। इस दिवस में हमें किसानों का महत्व बताया गया है कि किसानों की हमारे जीवन में कितनी जरुरत होती है। किसान हमारे अन्नदाता होते हैं। यदी किसान अन्न उगाना बंद कर दे तो हम ज्यादा दिनों तक बिना खाए जिंदा नहीं रह सकते हैं। खाने की जो ज्यादातर चीजें हैं, वह हमें किसान मुहैया कराते हैं। किसान जो खेतो में अनाज उगाते है। उसे ही हम खाते है। अगर किसान हमे दाना पानी न भेजें तो हमारा अर्थिक जीवन अस्त व्यस्त हो जाएगां। दुनिया में अलग-अलग जगह किसान दिवस मनाया जाता है।

भारतीय किसान दिन रात मेहनत करता है। अपने खेतो की रखवाली करता है। आवारा पशुओं से बचाता है। किसान कोई भी हो सकता है। जैसे मज़दूरी करने वाला किसान हो सकता है खेतो का मालिक किसान हो सकता है। कृषि खेती के मालिक द्वारा रखा गया मजदूर किसान हो सकता है।  इस दिवस का उदेशय यह है। की हमें अपने जीवन में किसानों के महत्तव को समझना चाहिए।

भारत में किसान दिवस देश के पांचवें प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के जन्मदिन के मौके पर मनाया जाता है। किसानों के मसीहा माने जाने वाले चौधरी चरण सिंह का जन्म 23 दिसंबर, 1902 को हुआ था। उन्होंने भारतीय किसानों की स्थिति में सुधार लाने के लिए कई सुधार कार्य किए थे। इसकी बड़ी वजह यह थी। कि वह खुद भी किसान परिवार से थे और किसानों की समस्यओं को अच्छी तरह समझ सकते थे।