सत्ती की टिप्पणीयों से कांग्रेस को मिला स्टार्टअप तो बीजेपी बैकफुट पर

  • 16 Apr 2019
  • Reporter: नवनीत बत्ता

हिमाचल प्रदेश में पिछले 2 दिनों से लगातार कांग्रेस और भाजपा के भीतर सियासत गरमाई हुई है और यह लग रहा है जैसे कि भाजपा आज कहीं ना कहीं बैकफुट पर खड़ी नजर आ रही है। प्रदेश अध्यक्ष भाजपा सतपाल सत्ती द्वारा दिए गए तो बयान भाजपा के गले की फांस बनते जा रहे हैं जिनमें सबसे पहले तो कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को लेकर अभद्र टिप्पणी और उसके बाद राधा स्वामी सत्संग ब्यास से जुड़े लोगों को लेकर एक टिप्पणी आजकल सोशल मीडिया में लगातार सुर्खियां बटोर रही है।

भाजपा के नेताओं से इन दोनों विषयों पर संपर्क करने के प्रयास करने के बाद भी कोई भी नेता कुछ भी बोलने से इंकार करता नजर आ रहा है। वहीं जब इन विषयों को लेकर भाजपा के उम्मीदवारों से पूछा जा रहा है तो उनका वह भी यही कह रहे हैं कि हम लोग चुनाव में हैं और यह टिप्पणी उनकी अपनी सोच हो सकती है हमारी नहीं ।

इस तरह से भाजपा इस सारे मामले को लेकर बैकफुट पर खड़ी नजर आ रही है और किसी भी तरह का बयान इन विषयों पर देने से बच रही है। कांग्रेस पार्टी पिछले कल से सतपाल शक्ति और भाजपा के पुतले पुतले अपने स्तर पर जल रही है और इस्तीफा के साथ माफी की बात कर रही है । हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू और पार्टी के वरिष्ठ नेता जीएस बाली राधास्वामी को लेकर दिए गए बयानों को कहते हैं कि यह बयान कांग्रेस पार्टी के लिए कोई राजनीति का मुद्दा नहीं है लेकिन राधा स्वामी ओं को जो बयान दिया है इससे एक बहुत बहुत बड़े वर्ग की आस्था आहत हुई हैं और आने वाले चुनावों में जब मतदान होगा तो इसका रिजल्ट भुगतने  के लिए भी  भाजपा के लोग तैयार रहें।

उन्होंने कहा कि सतपाल सत्ती को लेकर पूरी कांग्रेस पार्टी एकजुट है हर स्तर पर जाकर इस मुद्दे को उठाया जाएगा कि किस तरह से भाजपा के लोग धार्मिक आस्थाओं से भी अब खिलवाड़ करते नजर आ रहे हैं।

उन्होंने कहा कि राधा स्वामी सत्संग से जुड़े लोगों को लेकर यह टिप्पणी भी बिल्कुल अभद्र है और हम लोग इस टिप्पणी की कड़े शब्दों में निंदा करते हैं । अगर हम फेसबुक पर नजर आएं तो बड़े स्तर पर  इस टिप्पणी को लेकर विरोध आज सिलसिलेवार तरीके से शुरू हो गया है और सभी लोग जो सत्संग से जुड़े हैं वह ना सिर्फ फेसबुक के माध्यम से एक दूसरे को लेकर इस टिप्पणी को शेयर करते नजर आ रहे हैं बल्कि संबंधित व्यक्ति को और पार्टी को सबक सिखाने की बात भी कर रहे हैं ।अब मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर इस सारे मामले को लेकर क्या करते हैं इस पर सभी की निगाहें टिकी हुई हैं हालांकि अभी तक उनका कोई बयान इस मुद्दे को लेकर नहीं आया है।