कांग्रेस के शीर्ष नेताओं के लोकसभा क्षेत्र विकास के मामले में हमीरपुर से पीछे: अनुराग

  • 14 May 2019
  • Reporter: नवनीत बत्ता

अनुराग ठाकुर ने हमीरपुर संसदीय क्षेत्र के नैना देवी विधानसभा में डेढ़ दर्जन से ज़्यादा जनसभाओं को सम्बोधित किया। इस मौके पर उन्होंने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि राहुल गांधी का अमेठी और सोनिया गांधी रायबरेली लोकसभा क्षेत्र भी विकास और सुविधाओं के मामले में हमीरपुर संसदीय क्षेत्र के आगे कहीं नहीं ठहरता। आए दिन अखबारों में बयानबाजी करने वाले कांग्रेस नेताओं को हमीरपुर के विकास पर टिप्पणी करने की बजाए अमेठी और रायबरेली के दर्शन कर आने चाहिए । हो सकता है कि उन्हें अपने शीर्षस्थ नेताओं के हलकों का सूरते हाल देखकर खुद ही शर्म आ जाए।

उन्होंने कहा कि केंद्र में ज्यादातर समय सत्तासीन रहने के बावजूद सोनिया गांधी और राहुल गांधी के लोकसभा क्षेत्र पिछड़ेपन के शिकार हैं और वहां मतदाताओं को हर बार गांधी परिवार की विरासत के नाम पर भावनात्मक रूप से छला गया है लेकिन हमीरपुर संसदीय क्षेत्र में विकास धरातल पर दिखता है। हमीरपुर लोकसभा क्षेत्र में तो पूर्व कांग्रेस सरकार ने विकास के प्रोजेक्ट धरातल पर उतारने में बार बार अड़ंगे लगाए लेकिन रायबरेली और अमेठी में कांग्रेस के हाथ किसने बांध रखे थे।

उन्होंने कहा केंद्र में कांग्रेस की सरकार लगातार 10 साल सत्तासीन रही और कांग्रेस के शीर्ष नेताओं के यह दोनों लोकसभा क्षेत्र विकास के मामले में पिछड़ेपन का शिकार रहे। लेकिन हमीरपुर लोकसभा क्षेत्र आज देश के प्रगतिशील और विकसित लोकसभा क्षेत्रों में अपनी पहचान बना चुका है। हमीरपुर लोकसभा क्षेत्र के चप्पे-चप्पे पर विकास के रंग बिखरे हुए हैं जिन्हें देखकर कांग्रेसियों की नींद हराम है। इस लोकसभा क्षेत्र के तहत आने वाले सभी 17 विधानसभा क्षेत्रों में विकास के नए मील पत्थर स्थापित किए गए हैं।

सांसद अनुराग ठाकुर ने कहा कि 35 साल के राजनीतिक जीवन की उपलब्धियों के नाम पर कांग्रेस प्रत्याशी ठाकुर रामलाल का रिपोर्ट जीरो है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेताओं ने ही कांग्रेस प्रत्याशी पर भ्रष्टाचार के संगीन आरोप लगाए हैं और कांग्रेस प्रत्याशी उन नेताओं पर मानहानि का केस करने का हौसला नहीं दिखा पाए हैं, जिससे साबित होता है कि भ्रष्टाचार के साथ उनका कोई ना कोई नाता जरूर है। अनुराग ठाकुर ने कहा एक तरफ़ इनके राष्ट्रीय नेता देश के सेना प्रमुख को गली का गुंडा कहते हैं, सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक पर सवाल खड़े करते हैं तो दूसरी तरफ़ कांग्रेस प्रत्याशी विधानसभा में एक ईंट शहीद के नाम जैसे कार्यक्रम पर प्रश्न खड़ा करते हैं। जनता के पैसे से बनने वाले शहीद स्मारक में भ्रष्टाचार होने की बात कहते हैं। इससे कांग्रेस प्रत्याशी की मानसिकता का पता चलता है।