#Birthday_Special: जानिए डोनाल्ड ट्रंप का पूरा इतिहास, कैसे बिजनेसमैन से बने अमेरिका के राष्ट्रपति

  • 14 Jun 2019
  • Reporter: समाचार फर्स्ट डेस्क

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप और उनकी कामयाबी की दास्तां को जानने में अमरीका ही नहीं पूरी दुनिया दिलचस्पी दिखाती रही है। आज हम आपको बताएंगे की डोनाल्ड ट्रंप ने एक बिजनेसमैन से लेकर दुनिया के सबसे ताकतवर इंसान बनने की राह कैसे तय की।

कामयाब अमरीकी कारोबारी हैं डोनल्ड ट्रंप

डोनल्ड ट्रंप एक कामयाब अमरीकी कारोबारी हैं। उनके पास अरबों रुपए की संपत्ति है। न्यूयॉर्क के बेहद महंगे मैनहैटन इलाक़े में उनके पास अच्छी ख़ासी जायदाद है। अगर कहे कि एक रईस अमरीकी हैं तो गलत नहीं होगा। डोनाल्ड ट्रंप का जन्म 14 जून 1946 में न्यूयॉर्क के क्वींस में ट्रंप का जन्म हुआ था। उनके पिता रियल एस्टेट के बिजनेसमैन हुआ करते थे। उस दौर में वो शानदार गाड़ियों से चलते थे, जिन्हें चलाने के लिए ड्राइवर रखे हुए थे। 13 साल की उम्र में ट्रंप पढ़ने के लिए मिलिट्री स्कूल गए। बाद में 1964 में उन्होंने मिलिट्री एकेडमी से ग्रेजुएशन किया।

1980 में द ग्रैंड हयात होटल को किया शुरू

सन् 1971 में ट्रंप मैनहट्टन में एक लाभदायक परियोजनाओं के निर्माण में शामिल हो गए थे। जिसके बाद 70 के दशक में ही ट्रंप ने घाटे में चल रहे कमोडोर होटल को 7 करोड़ डॉलर में खरीदा। और बाद में 1980 में उन्होंने इस होटल को द ग्रैंड हयात के नाम से शुरू किया।1982 में डोनल्ड ट्रंप ने न्यूयॉर्क में ट्रंप टॉवर बनवाया। ये न्यूयॉर्क की मशहूर इमारतों में से एक है। कहते हैं कि इसे बनाने में पोलैंड से ग़ैरक़ानूनी तरीक़े से आए मज़दूरों का बड़ा योगदान रहा था

बिजनेस में हुए नुकसान ने खोली राजनीति में आने की राह

90 के दशक में ट्रंप के रियल एस्टेट बिजनेस को काफी नुकसान पहुंचा। ताज महल इन अटलांटिक सिटी और 1992 में ट्रंप प्लाजा को भी दिवालिया घोषित किया गया। 1999 में डोनाल्ड ट्रंप ने राजनीति में भी हाथ आज़माया। उन्होंने रिफ़ॉर्म पार्टी बनाई। डोनल्ड का इरादा था कि साल 2000 में रिफ़ॉर्म पार्टी उन्हें राष्ट्रपति पद के लिए अपना उम्मीदवार बनाए । लेकिन, रिफ़ॉर्म पार्टी के अंदरूनी झगड़ों से तंग आकर उन्होंने फ़रवरी 2000 में ख़ुद को चुनाव से अलग कर लिया

मुस्लमानों पर दिया था विवादित बयान

7 दिसंबर 2015 को डोनल्ड ट्रंप ने अपना सबसे विवादित बयान दिय था। उन्होंने साउथ कैरोलिना में एक चुनावी रैली में कहा कि मुस्लमानों के लिए अमरीका के दरवाज़े पूरी तरह बंद कर दिए जाने चाहिए। साथ ही उन्होंने कहा कि अमरीका में रहने वाले मुसलमानों के बारे में पूरी जांच पड़ताल होनी चाहिए।

उन्होंने अपने इस सख़्त प्रस्ताव से सिर्फ़ लंदन के मेयर सादिक़ ख़ान को ही छूट दी थी। इस पर काफ़ी हंगामा मचा था। आज भी बहुत से लोगों को लगता है कि ट्रंप की मुस्लिम विरोधी छवि पूरी दुनिया के लिए ख़तरनाक है।

विवादों के बावजूद रिपब्लिकन पार्टी ने बनाया उम्मीदवार

अपने तमाम विवादों के बावजूद 19 जुलाई 2016 को डोनल्ड ट्रंप अमरीका की ग्रैंड ओल्ड पार्टी या रिपब्लिकन पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार बनने में कामयाब हो गए

उम्रदराज प्रेसिडेंट होंगे ट्रम्प

यूएस के सबसे उम्रदराज प्रेसिडेंट बनने जा रहे हैं। इस समय ट्रंप की उम्र 70 साल है इससे पहले अमेरिका में सबसे ज्यादा उम्र में प्रेसिडेंट बनने वाले रोनाल्ड रीगन हैं। जब वे प्रेसिडेंट बने, उनकी उम्र 69 साल 349 दिन थी।

60 साल में पहले ऐसे राष्ट्रपति जो कभी गर्वनर नहीं रहा

ट्रम्प जीते तो 60 साल में पहले ऐसे राष्ट्रपति होंगे जो गवर्नर नहीं रहा और जिसका कोई खास पॉलिटिकल ब्रैकग्राउंड नहीं है।इससे पहले 1953 में ड्विट आइजनहावर अमेरिका के प्रेसिडेंट बने थे। वे सेकंड वर्ल्ड वॉर में सुप्रीम कमांडर रहे थे।

एक नजर डोनाल्ड ट्रम्प के निजी जीवन पर

डोनाल्ड ट्रम्प की तीन शादियां हो चुकी हैं। इवाना और मार्ला मेपलेस से उनका तलाक हो चुका है। अभी उनकी लाइफ पार्टनर मेलानिका हैं। ट्रम्प से 2005 में उनकी शादी हुई थी। ट्रम्प के तीन बेटे और दो बेटियां हैं। डोनाल्ड ट्रम्प पर महिलाओं से संबंध और बदसलूकी करने के आरोप लगते रहे हैं। लेकिन उनकी वाइफ मेलानिका हमेशा ट्रम्प का बचाव करती रही हैं।