World Cup2019: इस टीम के खिलाफ 'भगवा' रंग की जर्सी पहनेगी टीम इंडिया!

  • 20 Jun 2019
  • Reporter: समाचार फर्स्ट डेस्क

आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 अपना आधा सफर तय कर चुका है। अभी तक के प्रदर्शन के आधार पर यह तस्वीर साफ होती नजर आ रही है कि क्रिकेट के इस महाकुंभ के सेमीफाइनल में कौन-कौन सी टीमें पहुंच सकती हैं।

भारतीय टीम भी सेमीफाइनल की ओर मजबूती से आगे बढ़ रही है। टीम ने अभी तक खेले चार मुकाबलों में से तीन में जीत दर्ज की है, जबकि एक मैच बारिश के चलते नहीं हो सका। यह मुकाबला न्यूजीलैंड के खिलाफ था।

भारतीय टीम को अब रविवार 22 जून को अफगानिस्तान से भिड़ना है, जबकि 27 जून को वेस्टइंडीज और 30 जून को इंग्लैंड से उसकी भिड़ंत होगी। इसके बाद बांग्लादेश और श्रीलंका से भी टीम को अपना मैच खेलना है। मगर इन सभी में इंग्लैंड के खिलाफ होने वाला मुकाबला बेहद खास और अलग है।

दरअसल, भारतीय टीम अफगानिस्तान या इंग्लैंड के खिलाफ होने वाले मुकाबले में भगवा रंग की जर्सी पहन सकती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि अफगानिस्तान और इंग्लैंड दोनों टीमों के खिलाड़ियों की जर्सी का रंग वैसा ही नीला है जैसा कि भारतीय टीम के खिलाड़ियों की जर्सी का।

ये है नियम : आईसीसी का नियम है कि एक मैच में एक जैसे रंग वाली ड्रेस पहनकर दोनों टीमें नहीं उतर सकती। ऐसे में एक टीम की जर्सी का रंग बदला जाना चाहिए।

ऐसे बना नियम : यह नियम फुटबॉल के अवे और होम मुकाबलों में पहनी जाने वाली जर्सी से प्रेरित होकर बनाया गया है।

इंग्लैंड को इसलिए प्रमुखता: ऐसे मामलों में मेजबान टीम को ही अपनी पूर्व ‌निर्धारित रंग की जर्सी पहनने की अनुमति होती है।

इन टीमों ने बदली जर्सी

दक्षिण अफ्रीका ने बांग्लादेश की हरी जर्सी को देखते हुए पीली जर्सी पहनी थी। जबकि ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और वेस्टइंडीज को जर्सी बदलने की जरूरत नहीं है क्योंकि उनकी जर्सियां किसी टीम से मेल नहीं खाती।

रहस्य बरकरार

हालांकि भारतीय टीम की किट स्पांसर कंपनी नाइक ने इस बारे में चुप्पी साध रखी है कि टीम इंडिया की जर्सी का रंग क्या होगा। मगर माना जा रहा है कि यह भगवा रंग की होगी और इसके कॉलर पर नीली पट्टी होगी। हालांकि यह बात और हैरान करने वाली है कि भारतीय खिलाड़ियों ने पिछले हफ्ते तक नई जर्सी को देखा तक नहीं है। हालांकि इस बारे में भी असमंजस बना हुआ है कि क्या वाकई भारतीय टीम जर्सी का रंग बदलेगी। वह इसलिए क्योंकि आईसीसी ने पाकिस्तान को इससे छूट दे दी थी।