ईयरलॉब रिपेयरिंग है बिना सर्जरी कटे-फटे ईयरलॉब को जोड़ने का तरीका

  • 03 Jul 2019
  • Reporter: समाचार फर्स्ट डेस्क

कान के निचले हिस्से के कटने का सबसे आम कारण लगातार भारी लटकने वाले झुमके हैं।  इससे आपके कान खराब हो जाते हैं। यह बड़े-बड़े झुमके पहनने, भारी-भरकम ज्वैलरी का प्रयोग करने या बच्चों के द्वारा बालियों को खींचने के कारण भी आपके ईयरलॉब कट-फट जाते हैं। लेकिन इसका भी इलाज भी है जिसे आप अपना सकते हैं। जिससे आपका कान पहले की तरह ही बन सकता है। सर्जरी के बिना भी हम ईयरलॉब की मरम्मत केमिकल ईयरलॉब रिपेयर या सर्जिकल ग्लू की मदद से भी कर सकते हैं। आइये बात करते हैं उन तरीकों के बारे में....

ये है ईयरलॉब रिपेयरिंग प्रक्रिया

रासायनिक ईयरलॉब रिपेयर में हम टूथपिक की मदद के साथ 90% ट्रिक्लोरोएसेटिक एसिड का उपयोग करते हैं। यह हल्के सफेद रंग का होता है जिसे फ्रॉस्टिंग भी कहा जाता है। घावों के दोनों सिरों को एक साथ रखा जाता है और माइक्रो टेप लगाया जाता है और हफ्तेभर के लिए इसे यूं ही रखा जाता है। एक हफ्ते के बाद अगर घाव ठीक नहीं हुआ तो प्रक्रिया को दोहराया जा सकता है। अधिकतम 3 सीटिंग्स एक हफ्ते के अलावा आवश्यक हैं।

इसके फायदे

  • लोकल एनेस्थेसिया की ज़रूरत नहीं पड़ती।
  • इसके लिए किसी तरह के टांकों की आवश्यकता नहीं पड़ती है।
  • इसमें कुछ मिनटों का समय लगता है और दर्द भी नहीं होता।
  • यह काफी सस्ता और असरदार होता है।

इसे ठीक होने में तकरीबन एक हफ्ते तक का समय लगता है। बहुत सारी पेन किलर गोलियां हैं जो आपको पहले कुछ दिनों के दौरान दर्द से राहत दिलाने में मदद करती हैं। यह वह दौर है जब दर्द बहुत ज़्यादा होता है। हल्के झुमके या स्टड पहनने से पहले भी कम से कम एक महीने का इंतजार करना काफी अच्छा होता है। दोबारा कानों के कटने से बचाने के लिए फिर से भारी बालियां नहीं पहनना ही बेहतर उपाय है।