इतिहास बनकर रह जाएगा शिमला का बालजीज रेस्तरां

  • 10 Jul 2019
  • Reporter: पी. चंद, शिमला

देश-दुनिया में पहचान बना चुका शिमला के मॉल रोड़ का बालजीज 10 जुलाई को बंद हो जाएगा। हाई कोर्ट के आदेश के बाद 15 जुलाई को बालजीज रेस्तरां के मालिकों को इसे खाली कर संपत्ति के मालिक को सौंपना है। 1954 में इस रेस्तरां को चंद्र बालजीज ने शुरू किया था।लगभग 65 वर्षों तक बालजीज ने लोगों को अपनी सेवाएं दी।इन 65 वर्षों में रेस्तरां ने काफी नाम भी कमाया और खुद की अलग पहचान भी बनाई।

सैलानियों और स्थानीय लोग भी मालरोड पर टहलने के बाद बालजीज के गुलाब जामुन और पेस्ट्री का स्वाद चखना नहीं भूलते हैं। रेणु बालजी ने बताया कि बालजीज की शुरुआत इंडियन खाने से की गई थी जो समय के साथ बदलती रही जैसे जैसे लोगों की डिमांड होती रही उन की डिमांड को पूरा करते रहे। रेस्तरां के बंद होने पर रेणु बालजी ने भी दुख जाहिर किया है।

वहीं, दूसरी और यह काम करने वाले वर्कर भी काफी निराश है। उन्हें अपने आगे की भविष्य की चिंता होने लगी है कि आगे वो लोग क्या करेंगे। लगभग 70 के करीब वर्कर बालजीज में काम करते है जो अब रेस्तरां के बंद होने से सड़कों पर आ गए हैं। बालजीज के सबसे पुराने वेटर दौलत राम और मस्तराम ने बताया कि पिछले 41 सालों से वह यहां नोकरी कर रहे थे।

अब रेस्तरां के बंद होने से वे बेरोजगार होकर  सड़कों पर आ गए हैं। इस उम्र में कंही दूसरी जगह नौकरी मिलना भी मुश्किल है। मजदूरों ने बताया कि उन्हें रेस्तरां मालिक की तरफ से न तो अभी तक कोई नोटिस मिला है और न ही किसी तरह पेंडिंग वितीय लाभों के बारे में कोई आश्वासन मिला है।

गौरतलब है कि सुप्रीमकोर्ट में बालजीज रेस्तरां को लेकर केस चल रहा था जिसे हाईकोर्ट शिफ्ट किया गया था। संपत्ति मालिक रेस्तरां मालिक से ज्यादा किराये की मांग कर रहे थे, वर्तमान में इस रेस्तरां का 1.5 लाख महीना किराया है। संपत्ति मालिक 25 लाख तक की मांग कर रहे थे। ऐसे में दोनों के बीच में बात नहीं बनी और हाईकोर्ट ने रेस्तरां की संचालिका रेणु बालजी के लिए 10 जुलाई को अंतिम वर्किंग डे तय किया है। पांच दिन इसे खाली करने के लिए रखे गए हैं। 15 जुलाई को रेणु बालजीज रेस्तरां को संपति मालिक को सौंप देंगी।

प्रधानमंत्री मोदी भी थे बालजीज के गुलाब जामुन के शौकीन

बालजीज-के गुलाब जामुन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी बहुत पसंद हैं। जब नरेंद्र मोदी हिमाचल भाजपा के प्रभारी थे तो यहां कई बार गुलाब जामुन का स्वाद चखने आया करते थे, हाल ही में उन्होंने नमो एप के जरिये भी बालजीज के गुलाब जामुन का जिक्र किया था। अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई, बॉलीवुड स्टार अनुपम खेर, वहीदा रहमान और प्रदेश के दिग्गज नेता वीरभद्र सिंह, शांता कुमार, प्रेम कुमार धूमल और जयराम ठाकुर भी बालजीज रेस्तरां के शौकीन हैं।