लाल किले की प्राचीर से बोले PM मोदी, '5 सालों में 5 हजार अरब डॉलर की होगी भारत की इकॉनमी'

  • 14 Aug 2019
  • Reporter: समाचार फर्स्ट डेस्क

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 73वें स्वतंत्रता दिवस पर गुरुवार को देश को संबोधित करते हुए कहा कि आने वाले पांच साल में हमारी अर्थव्यवस्था 5,000 अरब डॉलर की होगी और यह सपना हम सबका होना चाहिए। इस दौरान उन्होंने कहा कि समस्याओं का जब समाधान होता है तो स्वावलंबन का भाव पैदा होता है, समाधान से स्वावलंबन की ओर गति बढ़ती है, जब स्वावलंबन होता है तो अपने आप स्वाभिमान उजागर होता है और स्वाभिमान का सामर्थ्य बहुत होता है।

इससे पहले पीएम मोदी ने लाल किले पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया।  इसके बाद प्रधानमंत्री ने सलामी गारद का निरीक्षण किया। लाल किले पर पहुंचने से पहले मोदी राजघाट गए और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की।

पीएम मोदी के भाषण की बड़ी बातें...

'तीनों सेनाओं के लिए चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बनाया जाएगा'

पीएम मोदी ने कहा कि तीनों सेनाओं के बीच बेहतर तालमेल और उन्हें प्रभावी नेतृत्व मुहैया कराने के लिये 'चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) बनाया जाएगा, इससे सेना और अधिक प्रभावी होगी।

भारत की सरकार आज स्थिर: पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि भारत की सरकार आज स्थिर है, नीति व्यवस्था भरोसेमंद है...दुनिया के देश भारत के साथ व्यापार करने को उत्सुक हैं। संपत्ति सृजन देश के लिये महत्वपूर्ण सेवा है, संपत्ति सृजित करने वालों को संदेह की नजर से नहीं देखें। जब संपत्ति सृजित होती है, तभी उसका वितरण होगा। जो संपत्ति सृजित कर रहे हैं, हम उसका सम्मान करते हैं।

आतंकवाद के खिलाफ भारत मजबूती से लड़ रहा: PM मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने लाल किले से कहा कि भारत आतंकवाद के खिलाफ मजबूती से लड़ रहा है, आतंकवाद का निर्यात करने वालों का असली चेहरा दुनिया के सामने लाना है।

मुस्लिम महिलाओं को न्याय दिलाने को बनाया तीन तलाक कानून

प्रधानमंत्री मोदी ने देश के कई हिस्सों में आई बाढ़ पर चिंता प्रकट करते हुए कहा कि लोगों की कठिनाइयों को कम करने के लिए पूरे प्रयास किए जा रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा कि मुस्लिम महिलाओं को न्याय दिलाने के लिए तीन तलाक के खिलाफ कानून बनाया गया, आतंकवाद के खिलाफ मजबूती से लड़ाई लड़ने के लिए आतंकवाद विरोधी कानून में संशोधन किया गया।

लोगों की सोच बदली है

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि लोगों की सोच बदली है। पहले लोग अपने क्षेत्र में केवल एक रेलवे स्टेशन बनने से खुश होते थे, अब लोग पूछते हैं कि वंदे भारत (तीव्र गति वाली रेल) हमारे इलाके में कब आएगी। लोग केवल बेहतर रेलवे स्टेशन ही नहीं चाहते बल्कि पूछते हैं कि हवाई अड्डा कब बनेगा। उन्होंने कहा कि भारत धीरे-धीरे प्रगति नहीं चाहता। एक लंबी छलांग की जरूरत है, हमें बेहतर, वैश्विक गतिविधियों को ध्यान में रखना है और बेहतर प्रणाली बनानी है।

जम्मू कश्मीर, लद्दाख के सपनों को पंख लगें, यह सबकी जिम्मेदारी

पीएम मोदी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के सपनों को पंख लगें, यह हम सबकी जिम्मेदारी है।' प्रधानमंत्री ने कहा, 'जो लोग अनुच्छेद 370 की वकालत कर रहे हैं उनसे देश पूछ रहा है कि अगर यह इतना महत्वपूर्ण था तो इसे आप लोगों ने स्थायी क्यों नहीं किया, अस्थायी क्यों बनाए रखा? उन्होंने कहा, 'नयी सरकार को 10 हफ्ते भी नहीं हुए हैं, लेकिन इस छोटे से कार्यकाल में सभी क्षेत्रों में हर प्रयास को बल दिए गए हैं, हम पूरे समर्पण के साथ सेवारत हैं।