केरल-कर्नाटक समेत 5 राज्यों में सैलाब, बाढ में डूबे लोगों को बचाने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

  • 09 Aug 2019

देश के कई राज्यों में भारी बारिश के बाद बाढ़ से तबाही मची हुई है। केरल से कर्नाटक और मध्य प्रदेश से महाराष्ट्र तक कई राज्यों में सैलाब में सबकुछ डूब चला है, जहां एनडीआरएफ राहत और बचाव कार्यों में लगी है। इसके अलावा महाराष्ट्र में नौसेना तो केरल-कर्नाटक में सेना और वायुसेना को बचाव कार्यों में लगाया गया है। इस समय उत्तर से दक्षिण तक बाढ़ में केरल सबसे ज्यादा तबाही झेल रहा है। राज्य में मौत का आंकड़ा 14 तक जा पहुंचा है और महाराष्ट्र में मरने वालों का आंकड़ा 27 पहुंच गया है।

केरल और कर्नाटक में बाढ़ जानलेवा हो गई है। बाढ़ के कारण कोच्चि एयरपोर्ट रविवार तक बंद कर दिया गया है। महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और ओडिशा का बड़ा हिस्सा सैलाब के चलते पानी-पानी हो गया है। कर्नाटक के बेलगाम में तीन हेलिकॉप्टर रेस्क्यू मिशन में जुटे हैं। इसके अलावा केरल के ईडुकी, वायनाड, कोडिकोड, मल्लापुरम जिले में मौसम विभाग ने रेड अलर्ट जारी किया है। केरल में अगले दो दिन तक भारी बारिश का अनुमान है। बाकी कई राज्यों के लिए भी मौसम विभाग ने ऑरेंज और येलो अलर्ट जारी किया है। एनडीआरएफ की टीमें बाढ़ में फंसे लोगों को बचाने में जुटी हुई हैं।

केरल में 1385 राहत शिविर बनाए गए हैं। सभी अधिकारियों को बाढ़ की स्थिति पर नजर बनाए रखने को कहा गया है। मौसम के रेड अलर्ट के बीच वायनाड में सेना को उतारने का फैसला लिया गया। सेना बाढ़ में फंसे लोगों को रेस्क्यू करेगी। केरल में बाढ़ के चलते स्कूल-कॉलेजों को बंद कर दिया गया है। बाढ़ से निपटने की तैयारियों को जायजा लेने के लिए केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने हाई लेवल बैठक भी की है। राहत एवं बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ की 10 और टीमों को तैनात किया गया है। वहीं, कोच्चि एयरपोर्ट पर 11 अगस्त रविवार को 3 बजे तक सभी विमानों का परिचालन रोक दिया गया है। मौसम विभाग ने कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिले में मॉनसून की भारी बारिश और तेज हवाओं के कहर के चलते रेड अलर्ट जारी किया है। रेड अलर्ट जारी होने का मतलब है कि मौसम के अत्यधिक खराब होने की संभावना है।