पुलिस टीम पर हमले से गर्माई सियासत, BJP ने कांग्रेस पर जड़े आरोप

  • 13 Aug 2019
  • Reporter: पी. चंद

ऊना में सोमवार देर रात शराब माफिया पर कार्रवाई के दौरान पुलिस टीम पर हुए हमले का मामला सामने आने से सियासत गरमा गयी है। घटना में हमलावर कांग्रेस विधायक सतपाल रायजादा के पीएसओ और चालक बताये जा रहे हैं। घटना के बाद बीजेपी ने इस पर कांग्रेस को घेरा और एक के बाद एक कई सवाल किये।

प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने आरोप लगाते हुए कहा कि ऊना में लम्बे समय से कांग्रेस के लोग शराब, खनन माफिया और नशे के कारोबार में संलिप्त हैं। विधायक के संरक्षण में कारोबार चल रहा है और अब तक जितने लोग पकड़े गए हैं उसमें अधिकतर कांग्रेस के लोग हैं। शराब पंजाब से अवैध रूप से लाई जा रही है। पुलिस ने अवैध शराब पकड़ी लेकिन तस्करों को बचाने के लिए विधायक की गाड़ी में पीएसओ और चालक ने पुलिस के साथ मारपीट की। नशा माफिया के तार कहां तक जुड़े हैं और कहां कहां बात करते हैं इसकी जांच होनी चाहिए। अगर विधायक भी इसमें संलिप्त हैं तो उसके खिलाफ भी कार्रवाई होनी चाहिए।

वहीं मामले को लेकर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने कहा कि भाजपा जनता का ध्यान भटकाने के लिए कांग्रेस के विधायक पर नशा तस्कर को संरक्षण के झूठे आरोप लगा रही है जो कि सरासर गलत है। ऊना सदर के कांग्रेस विधायक सतपाल रायजादा ने पहले भी नशा और खनन तस्करों के खिलाफ आवाज़ उठाई थी और तस्करों के विरोध में ऊना के पुलिस अधीक्षक का घेराव भी किया था। इस मामले को लेकर उनकी विधायक से बात हुई है और विधायक हर पुलिस जांच करवाने के लिए तैयार है। भाजपा के आरोप निराधार हैं।

बहरहाल पुलिस ने शराब के साथ पकड़े व्यक्ति और कांग्रेस विधायक के पीएसओ तथा चालक के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है और मामले को लेकर आगामी जांच शुरू कर दी है। वंही कांग्रेस विधायक सतपाल रायजादा ने मामले को लेकर उनके खिलाफ जानबूझकर लेकर साजिश रचने के आरोप लगाए हैं।