कुल्लू: सड़क की दुर्दशा से बागवानों परेशान, सेब की 15 हजार पेटियां मंडियों में जाने से लटकी

  • 19 Aug 2019
  • Reporter: नवनीत बत्ता

कुल्लू के निरमंड विकास खंड के तहत राहनू पंचायत के बषाड़ से कतमोर सड़क की दुर्दशा को देखकर स्थानीय ग्रामीणों में खास नाराजगी है। ग्रामीणों का कहना है कि सड़क की हालत वर्तमान में खच्चर रोड़ से भी बदतर हो गई है। इस संपर्क मार्ग की दुर्दशा को देखते हुए 10 जुलाई से परिवहन निगम द्वारा बस सेवा भी ठप कर दी गई है। इस कारण स्थानीय लोगों की आवाजाही में परेशानी हो रही है। यह मार्ग कीचड़ और दलदल से सना होने के कारण छोटे गाडिय़ों का चलना असंभव हो गया है। कोई बीमार हो जाए तो चिकित्सालय जाना मुमकिन नहीं।

स्थानीय लोगों ने बताया कि करीब 7 किलोमीटर के इस संपर्क मार्ग की कोई सुध लेने वाला नहीं है। क्षेत्र के करीब 5 गांव इस सड़क की दुर्दशा से प्रभावित हो रहे हैं। इस क्षेत्र  से 15 हजार सेब पेटी निकलती है, लेकिन सड़क की दशा ठीक न होने से लोग सेब मंडी नहीं  पहुंचा पा रहे हैं। उन्होंने बताया कि कतमोर और कंडा गांव से आगे सड़क बिल्कुल खराब है। पूर्व में रामपुर से शारवी कतमोर बस चलती थी। लेकिन सड़क की दशा बिगडऩे के बाद 10 जुलाई से परिवहन निगम ने इस रूट पर बस भेजना भी बंद कर दिया है। उन्होंने सरकार से मांग की है कि तुरंत इस सड़क की दशा सुधारी जाए। ताकि लोग समय पर अपने सेब मंडीयों तक पहुंचा सके इसके अलावा लोगों की आवाजाही भी सुचारु हो सके।