मंडी: चैलचौक में बच्चा चोर गिरोह समझकर लोगों ने पीट डाले नकली किन्नर

  • 23 Aug 2019
  • Reporter: नवनीत बत्ता

मंडी के चैलचौक बाजार में नकली किन्नर बनकर आए एक महिला और 2 युवकों की बच्चा चोर गिरोह समझकर स्थानीय वासियों ने जमकर धुनाई कर डाली। कार्यकारी एसडीएम तहसीलदार गोहर अमित कुमार चैलचौक बाजार में मचे उपद्रव को शांत करने के लिए मौके पर पहुंचे और भीड़ के बीच मे फंसे तीनों नकली किन्नरों को भीड़ के चुंगल से छुड़ाया। एसडीएम ने तीनों को पुलिस के हवाले किया।

पकड़े गए नकली किन्नरों की पहचान श्याम पुत्र चमन लाल रूप नगर पंजाब, जय लाल पुत्र दलीप कुमार निवासी नूरपुर बेदी पंजाब और रीना देवी पत्नी जयलाल निवासी नूरपुरबेदी पंजाब के रूप में हुई है। जयलाल और रीना आपस मे पति पत्नी हैं। जो नकली किन्नरो का भेष कर लोगों से सौ - सौ रुपए मांग रहे थे । पुलिस को तीनों ने अपने आपको बहरूपिया बताया, जबकि गोहर थाने में इनका कोई रिकॉर्ड नही था। चैलचौक बाजार में पिछले तीन दिनों से यह गिरोह घूम रहा था।

शुक्रवार को जब इनमें से एक महिला रीना चैलचौक वर्षा आश्रालय में करीब तीन घण्टे बैठी रही तो शहर वासियों को इस पर संदेह हुआ। शहर के लोगों ने जब इससे पूछताछ की तो वह बार बार बयान बदलने लगी। इस दौरान जब इसके साथ के गिरोह के लोग मौके पर पहुंचे तो वे लोगों से उलझ गए। जिसके बाद माहौल खराब हो गया और दर्जनों लोग एकत्र हो गए। लोगों को यह भी शक हुआ कि कहीं यह बच्चा चोर गिरोह तो नही। लोगों को नकली किन्नर बनने का इनका पत्ता चलते ही भीड़ इनपर टूट पड़ी और तीनों की बीच बाजार धुनाई कर दी।

महिलाएं भी अपना गुस्सा रोक नही पाई और महिलाओं ने तीनों की छीतर परेड की। जिसके बाद प्रसाशन के हस्तक्षेप पर लोगों ने इनको छोड़ा और पुलिस के हवाले किया। तीनों ने बताया कि वे बेहरुपीये हैं और नेरचौक के पास झोम्पडी में रहते है। इससे एक सप्ताह पूर्व भी पधर में ऐसा वाक्य सामने आया था। आजकल बच्चा चोर गिरोह को लेकर लोगों में दहशत है। एसपी गुरदेव चन्द ने घटना की है। उन्होंने बताया कि पुलिस घटना की जांच कर रही है और दोषियों से पूछताछ की जा रही है।