बारिश का कहर जारी, 24 घंटे बीत जाने के बाद भी श्री रेणुका जी मार्ग बंद

  • 19 Aug 2019
  • Reporter: नवनीत बत्ता

श्री रेणुका जी जहां पर पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और उत्तराखंड लोग मां रेणुका हरिपुरधार अपना शीश झुकाने के लिए आते हैं लेकिन मौसम की मार से पर्यटक आधे रास्ते से वापस जाते नजर आ रहे हैं। बता दें कि सतौन से रेणुका मार्ग पर तीन जगह भारी भूस्खलन हो जाने के कारण आवाजाही बिल्कुल ठप हो चुकी है। जान जोखिम में डालने के लिए लोग मजबूर हो रहे हैं।

भारी भूस्खलन को पार करने के लिए लोग कैसे जान जोखिम में डालकर आवाजाही कर रहे हैं। जोरदार बारिश ने हालांकि जिला सिरमौर के 38  रोड बंद हो गए थे लेकिन श्री रेणुका जी मार्ग भी उनमें से एक है जहां पर सैकड़ों की तादात में हर रोज लोग आवाजाही करते हैं।

यही नहीं पिछले 24 घंटे से वाहनों की आवाजाही बिल्कुल ठप पड़ी है। ऐसे में लोग परेशान नजर आ रहे हैं बताया जा रहा है कि भूस्खलन में एक ट्रक भी आधा दब चुका है और चालक पेड़ की टहनियां पकड़ कर अपनी जान बचाकर कामयाब हुआ।

स्थानीय लोगों का कहना है कि विभाग की लापरवाही के कारण हमेशा यह समस्या उत्पन्न होती है यदि यहां पर जल्द से पुल लगाया जाता तो इस विकराल समस्या से लोगों को राहत मिल सकती थी। पर पिछले 20 वर्षों से विभाग के अधिकारी और यहां के नेता कोई कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। जिसका खामियाजा यहां के बाशिंदों को झेलना पड़ रहा है।

रेणुका हरिपुरधार जाने वाले यात्रियों ने भी बताया कि टिक्कर खाले के समीप भारी भूस्खलन हो जाने के कारण आवाजाही बिल्कुल ठप हो चुकी है हालांकि विभाग की मशीन यहां पर तैनात की गई है लेकिन लगातार भारी भूस्खलन हो जाने के कारण मशीन भी कोई कार्यवाही नहीं कर पा रही है। ऐसे में प्रदेश सरकार को इस बारे में कड़ा संज्ञान लेना चाहिए अन्यथा इस सड़क में कई हादसे हो सकते हैं।