सोलन: शातिरों ने बैटरी उद्योग को लगाया 29 लाख का चूना, मुख्य आरोपी गिरफ्तार

  • 12 Aug 2019
  • Reporter: पी. चंद

उद्योगिक क्षेत्र काला अंब में बैटरी बनाने वाली एक कंपनी के साथ ठगी का मामला सामने आया है। जहां शातिरों ने पुरानी बैटरी बेचने के नाम पर कंपनी से 29 लाख रूपये की ठगी कर डाली। ठगी का आभास होने पर कंपनी मालिक ने इसकी शिकायत दर्ज करवाई । जिस पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने मुख्य आरोपी प्रशांत गुप्ता को कोलकाता से गिरफ्तार कर लिया है जबकि इसके तीन साथियों को पुलिस ने पहले ही गिरफ्तार कर लिया है।

जानकारी के अनुसार काला अंब स्थित यह कंपनी पुरानी बैटरियों को खरीदकर उनमें से लेड को दोबारा प्रयोग करने लायक बनाया जाता है। कंपनी मालिक को ठगों ने फोन करके पुरानी बैटरी 70 रुपये प्रति किलो के हिसाव से बेचने के बारे में बताया। कंपनी मालिक ने भी इस सौदे में दिलचस्पि दिखाई और बैटरियां खरीदने के लिए हां कर दी। बैटरियों का कुल वज़न 40 मीट्रिक टन के आस पास था जिसकी कीमत लाखों में थी।  ठगों नें मालिक को विश्वास में लेने के लिए जीएसटी नंबर और कुछ अन्य कागज़ात भी भेजे और साथ में ट्रक में लोड बैटरियों की फोटो भी भेजी। ठगों ने मालिक को इसकी रकम बैंक खाते में डालने के लिए कहा। जिस पर कंपनी मालिक ने ठगों के कहने पर अलग अलग किश्तों में कुल 29 लाख रुपये उनके खाते में डाल दिये।

लेकिन जब कई दिन बीत जाने के बाद भी बैटरियों की डिलीवरी नहीं हुई और उनका मोबाइल नंबर भी बंद आने लगा तो कंपनी मालिक को ठगी का एहसास हुआ। जिसको लेकर कंपनी मालिक ने थाना काल अंब में शिकायत दर्ज करवाई। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की जिसमें साइबर सेल नाहन व थाना काला अंब की टीम ने कार्रवाई करते हुए इस गैंग के मुख्य सरगना को कोलकाता के बर्राकपोर से गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। गैंग के मुख्य सरगना का नाम प्रशांत गुप्ता है जो ठगी के कार्यों में काफी सक्रिय है। इसके अन्य तीन साथी विकास गुप्ता, पंकज पांडे, व कमल कुमार गुप्ता पहले ही पकड़े जा चुके थे।