फोर्टिस कांगड़: डॉ. वढेर ने अपने हुनर से गले की ग्रंथि के टयूमर का किया सफल ऑपरेशन

  • 16 Sep 2019
  • Reporter: समाचार फर्स्ट डेस्क

फोर्टिस अस्पताल कांगड़ा का ईएनटी विभाग अपनी बेहतरीन मेडिकल सेवाओं से मरीजों को राहत प्रदान कर रहा है। चाहे बात गला रोगों की हो अथवा कान रोगों की या फिर नाक के रोगों की, अस्पताल के विशेषज्ञ डॉक्टर स्मीत वढेर सभी बीमारियों के उपचार में माहिर हैं। डॉ वढेर न केवल जटिल बीमारियों का निदान करने में निपुण हैं, बल्कि उनका इलाज करने में भी हुनरमंद हैं। डॉ वढेर ने एक अधेड़ उम्र के मरीज के गले के टयूमर की सफल सर्जरी करके अपने हुनर की चमक बिखेर दी। दरअसल, 51 वर्षीय तिब्बती मरीज युदन पिछले एक साल से गले के ग्लैंड टयूमर से पीड़ित थी। इस ग्लैंड टयूमर का आकार पिछले तीन-चार महीनों से तेजी से बढ़ने लगा तो युदन की चिंता और बढ़ गई। उन्होंने उपचार के लिए कई चिकित्सकों से उपचार लिया, लेकिन कोई फर्क नहीं पड़ा, आखिर उन्होंने फोर्टिस हॉस्पिटल का रुख किया।

अस्पताल के ईएनटी स्पेशलिस्ट डॉ वढेर ने मरीज का परीक्षण किया और पाया कि गले की दांई तरफ की पेरोटिड ग्रंथि काफी बढ़ चुकी है और इसमें बड़े आकार का ग्लैंड टयूमर विकसित हो चुका है, जिसे उन्होंने “प्लेओमोर्फिक एडेनोमा” के रूप में डायग्नोज किया, जिसके उपचार का एकमात्र विकल्प सर्जरी था। इसलिए डॉ वढेर ने मरीज को सर्जरी करवाने की सलाह दी। उन्होंने अपनी काबलियत और अनुभव के बलबूते सर्जरी को सफल अंजाम दिया। मरीज के गले की ग्रंथि से करीब 10 सेंटीमीटर अकार का ग्लैंड टयूमर को बहुत ही सधी प्रक्रिया से निकाल दिया। सर्जरी के दो दिन बाद मरीज को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया।

इस सम्बन्ध में डॉ स्मीत वढेर ने कहा कि यहका ट्यूमर दुर्लव प्रकार का था, जो की समान्यता मरीजों में नहीं होता है। इस तरह के ट्यूमर की सर्जरी में मरीज के चेहरे की नसों को नुकसान होने से बचा के रखना चुनौती बड़ी चुनौती होती है, लेकिन फोर्टिस कांगड़ा में उपलब्ध संसाधनों की बदौलत मरीज की सर्जरी को बेहतरीन तरीके से अंजाम दिया गया। अब मरीज पूरी तरह से तंदरुस्त है।