BDO कार्यालय से झूठे आंकड़े जारी कर सरकार को किया जा रहा गुमराह: बंबर ठाकुर

  • 09 Sep 2019
  • Reporter: सुनिल ठाकुर, बिलासपुर

पूर्व विधायक बंबर ठाकुर ने आरोप लगाया कि बीडीओ कार्यालय से झूठे आंकड़े जारी कर सरकार को गुमराह करने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बरमाणा बाजार का सारा कूड़ा कचरा रोशन लाल पुत्र स्वर्गीय सुंकु राम के घर के पास फेंका जा रहा है। लेकिन राजनीति दबाव के चलते ग्राम पंचायत बरमाणा ने बीडीओ कार्यालय से स्वयं को स्वच्छ पंचायत का पुरस्कार भी प्राप्त कर लिया है, जो कि सरकार की आंखों में सरेआम धूल झोंकना है। उन्होंने आरोप लगाया कि बीडीओ सदर कार्यालय के कर्मचारियों ने झूठे आंकड़े प्रस्तुत कर सरकार को गुमराह किया है। और राजनैतिक दबाव में आकर पंचायत की वाहवाही करने के लिए सरकारी योजना का दुरूपयोग किया और गलत अवार्ड लिया।

बंबर ठाकुर ने उपायुक्त बिलासपुर से मांग की है कि बरमाणा में रोशन लाल के घर के समीप लगे गंदगी के ढेर को हटाकर एक स्थान चिन्हित करें ताकि संपूर्ण पंचायत मार्केट का कचरा सही ठिकाने लगाया जा सके। उन्होंने बताया कि रोशन लाल की पत्नी गंभीर किडनी रोग से पीड़ित है। जिसे पीजीआई के चिकित्सकों द्वारा साफ सुथरे वातावरण में रहने की हिदायत दी गई है। उन्होंने कहा कि यह हैरानी का विषय है कि पंचायत द्वारा पीड़ित परिवार की एक न सुनी। बंबर ठाकुर ने आरोप लगाया है कि बरमाणा पंचायत में व्यक्ति विशेष की पार्टी को देखकर उसका काम किया जा रहा है। गैर भाजपाई या गैर आरएसएस के लोगों के काम को तवज्जो नहीं दी जाती है।
 
उन्होंने बताया कि कांग्रेस के कार्यकाल में किसानों की समस्या के समाधान हेतु गौसदन का निर्माण हो चुका है। लेकिन पंचायत के अड़ियल रवैए की वजह से गौशाला में बेसहारा गऊओं को रखने की इजाजत नहीं दी जा रही है। उन्होंने प्रशासन से पूछा है कि वे पंचायत के आगे क्यों बेबस हैं। यदि गौशाला बनाई गई है तो गऊओं को उसमें रहने के लिए पंचायत क्यों रोक रही है। यह सीधे तौर पर उच्च न्यायालय के आदेशों की अवहेलना है। पूर्व विधायक बंबर ठाकुर ने मुख्यमंत्री से इस सारे मामले की जांच की मांग की है कि आखिर किन मापदंडो के तहत बरमाणा पंचायत को स्वच्छ पंचायत का पुरस्कार मिला और गऊशाला के काम में कौन बाधा डाल रहा है।