प्रदेश के अस्पतालों में फिजियोथेरिपिस्ट के पदों को जल्द भरेगी सरकार

  • 08 Sep 2019
  • Reporter: पी. चंद, शिमला

फिजियोथेरिपी का आम आदमी के जीवन में महत्त्व बढ़ता ही जा रहा है। समय के साथ साथ मनुुष्य के लाइफ स्टाइल में काफी बदलाव आया है इसलिए आदमी के शरीर में खासकर हड्डियों से सम्बंधित परेशानियां भी बढ़ी हैं। जिसमे राहत के लिए फिजियोथेरिपी काफी कारगर सिद्ध हो रही है। इसी बात को मध्यनजर रखते हुए सरकार ने प्रदेश के सभी जिला अस्पतालों में लम्बे अरसे से खाली चल रहे फिजियोथेरिपिस्ट के पदों को जल्द भरने का निर्णय लिया है। यह बात

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने शिमला में विश्व फिजियोथेरिपी डे के अवसर पर इंडियन एसोसिएशन ऑफ फिजियोथेरिपिस्ट हिमाचल इकाई द्वारा आयोजित कार्यक्रम के दौरान कही। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि एसोसिएशन भी लंबे अरसे से फिजियोथेरिपिस्ट के पद को भरने की मांग कर रहे थे ताकि इस फील्ड के लोगों को रोजगार के दूसरे राज्यों में भटकना ना पड़े। सरकार ने मेडिकल कॉलेजों में भी 3 अतिरिक्त फिजियोथेरिपिस्ट के पदों को सृजन करने का फैंसला भी लिया है ताकि प्रदेश के लोगों को भी बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं मिल सके।

गौरतलब है कि इंडियन एसोसिएशन ऑफ फिजियोथेरिपिस्ट हिमाचल इकाई लंबे अरसे से प्रदेश सरकार से अस्पतालों में फिजियोथेरिपिस्ट के पदों को भरने की मांग कर रहे थे जिस पर मुख्यमंत्री ने गौर करते हुए विश्व फिजियोथेरिपी डे पर प्रदेश के फिजियोथेरिपिस्ट को कुछ राहत दी है।