जलशक्ति विभाग की ओर से शिमला में 'जल जीवन मिशन' पर एक दिवसीय कार्यशाला आयोजित

  • 14 Feb 2020
  • Reporter: पी. चंद, शिमला

जलशक्ति विभाग की ओर से आज शिमला में जल जीवन मिशन पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया। इस कार्यशाला का शुभारंभ करने के बाद जलशक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने कहा कि केंद्र सरकार के इस महत्वकांक्षी मिशन के तहत 15 फरवरी तक जो टारगेट केंद्र ने दिया था, हिमाचल ने उसे पूरा किया है। साथ ही जो राशि खर्च करना थी वह भी खर्च की गई है। इसके अलावा विभाग में साढ़े चार सौ करोड़ रुपये जो कार्य प्रदेश में चल रहे है उसको भी 31 मार्च, 2020 तक पूरे किए जाएंगे।

मंत्री ने कहा कि विभाग अप्रैल 2020 से 31 मार्च 2021 तक 1800 करोड़ की सभी परियोजनाओं पर चर्चा करेगा और सभी इंजीनियर्स को समय से पहले कार्य करने के निदेश दिया गए हैं। जाहिर है कि जल जीवन मिशन की प्रगति में हिमाचल देशभर में अव्वल आंका गया है। इस मिशन के तहत छह लाख घरों को नल के कनेक्शन मिलेंगे। अभी तक बस्तियों को पेयजल मुहैया करवाया जाता था। पहली बार ऐसा हुआ जब हर घर को नल से जोड़ा जाएगा।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में करीब साढ़े चौदह लाख घर हैं। ये घर चरणबद्ध तरीके से नल से जोड़े जाएंगे। पहले 300 योजनाओं पर कार्य होगा। जिस तरह की तेजी इस कार्य का खाका तैयार शुरुआती कार्य करने में दिखाई गई, उससे हिमाचल को देश में सर्वोत्तम आंका गया है। जल जीवन मिशन की परफॉरमेंस रिपोर्ट देश में सर्वश्रेष्ठ रही है।