क्या है लॉकडाउन? कौन सी दुकानें खुली रहेंगी? यहां मिलेंगे सवालों के जवाब

  • 23 Mar 2020
  • Reporter: डेस्क

देश-विदेश में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप से इमरजेंसी के हालात हैं। भारत के कई राज्य पूरी तरह बंद है। इसी के चलते अब हिमाचल प्रदेश में लॉकडाउन के आदेश जारी हो चुके हैं। इससे पहले प्रदेश में केवल कांगड़ा जिले में लॉकडाउन था लेकिन अब प्रदेश सरकार ने पूरे हिमाचल में लॉकडाउन कर दिया है। इस दौरान हिमाचल तो बंद रहेगा लेकिन कुछ सुविधाएं जारी रहेंगी। अब यहां कन्फ्यूज़ न हों औऱ लॉकडाउन का मतलब सही से समझें। पहली बात तो लॉकडाउन और कर्फ्यू में कुछ अंतर हैं, दोनों को एक समान न समझें...

क्या है लॉकडाउन?

लॉक डाउन एक तरह की इमरजेंसी व्यवस्था होती है। अगर किसी क्षेत्र या प्रदेश को लॉकडाउन किया जाता है तो उस क्षेत्र के लोगों को घरों से निकलने की अनुमति नहीं होती। जीवन-यापन के लिए आवश्यक चीजों के लिए ही लोगों को बाहर निकलने की अनुमति होती है। इन जरूरी चीज़ों में दवा, अनाज, सब्जिया, बैंक, अस्पताल जैसी जरूरतों को रख़ा जाता है। इसके लिए पुलिस आपसे पूछताछ भी कर सकती है और वाजिब तौर पर आपको इन चीजों के लिए भी अनुमति लेनी होती है।

आसान शब्दों में लॉकडाउन आपको समझ आया होगा। लेकिन यहां कर्फ्यू की बात करें तो उसमें कुछ हद तक बदलाव होते हैं। कर्फ्यू एक तरह बैन करने की स्थिति है जिसमें हर एक चीज़ बंद रहती है। वाजिब तौर पर एक भी दुकान, प्रशासन या कुछ भी खुला नहीं रह सकता है। अगर कर्फ्यू का उल्लंघन होता है तो उस पर कार्रवाई भी होती है। एक तरह से कहें तो लॉकडाउन पहला स्टेप है तो कर्फ्यू तीसरा।

हां, इसमें एक बात और भी है कि जब सरकार कर्फ्यू के आदेश जारी करती है तो वे अपने हिसाब से कुछ व्यवस्थाओं के खुले रहने की अनुमति देती है। उदाहरण के तौर पर कहें तो अस्पताल, एटीएम वगैराह...

अब जब हिमाचल में पूरी तरह लॉकडाउन हो चुका है तो आपको ये भी बता दें कि यहां कौन सी दुकाने और बाज़ार में क्या-क्या खुला रहेगा। लोग सिर्फ जरूरत पड़ने पर ही अनुमति लेकर अपना सामान वगैराह लेने जा सकते हैं। बेवजह अग़र कोई बाहर निकलता है तो उस पर कार्रवाई हो सकती है। सरकार और प्रशासन द्वारा मिले आदेशों के मुताबिक...

  • दूध, ब्रेड, ग्रोसरी, फ्रूट, मास, सब्जी जैसी बिना पकी चीज़ों की दुकाने खोल सकते हैं..
  • अस्पताल, कैमिस्ट शॉप खोल सकते हैं
  • पेट्रोल पंप, LPG गैस, तेल एजेसियां खोल सकते हैं
  • खान-पान, मेडिकल सुविधाओं की सप्लाई जारी रहेगी
  • प्रोडक्शन और मेन्यूफैक्चरिंग यूनिट डीसी से आदेश ले सकते हैं काम करने के लिए
  • 9 मार्च के बाद विदेश से लौटे हिमाचली कत्तई बाहर न निकले, अपनी स्वास्थ्य जांच करवाएं जिसके 104 टॉल फ्री नंबर रहेगा
  • लोग अपने घरों में ही रहे। ज्यादा जरूरत पड़ने पर ही ऊपर दी गई चीज़ों को ख़रीदने के लिए बाज़ार जाएं(केवल 1 व्यक्ति)
  • किसी जग़ह पर समूह में न ख़ड़े हों

सरकारी डिपार्टमेंट

  • पुलिस, सेना और पेरा मिल्ट्री जारी रहेंगे
  • लॉ एंड ऑर्ड्स और मेजिस्ट्रियल ड्यूटी
  • हेल्थ
  • बैंक, ATM
  • ट्रेज़री
  • शहरी और ग्रामीण विकास डिपार्टमेंट
  • फायर
  • पानी, बिजली और नगर सेवाएं जारी
  • प्रिंट एंड इलेक्ट्रॉनिक मीडिया
  • IT सेक्टर
  • पोस्टल सर्विसिज़
  • सप्लाई चेन और रिलेटेस ट्रांसपोर्टेशन

ऊपर दिए गए ये सभी डिपार्टमेंट तभी तक जारी रहेंगे जब तक सरकार के अगले आदेश नहीं आ जाते। अगर अगले आदेशों में कुछ बदलाव होगा तो इनमें बदलाव हो सकता है। इसके साथ ही प्रदेश प्राइवेट ट्रांसपोर्टेशन बंद रहेगा। जरूरत पड़ने पर अनुमति मांगी जा सकती है। आख़िर में यही अपील की गई है कि लोग अपने घरों में  ही रहे। ज्यादा जरूरत पड़ने पर ही बाहर निकलें। प्रदेश में अभी तक कोरोना के 2 पॉजिटिव मामले हैं। ऐहतियात बरते और सरकार का सहयोग करें।