प्रदेश मेडिकल ऑफिसर एसोसिएशन ने कहा स्वास्थ्य सैनिकों को दिए जाए पर्सनल प्रोटेक्टिव गियर

  • 19 Mar 2020
  • Reporter: नवनीत बत्ता, हमीरपुर

हिमाचल प्रदेश मेडिकल ऑफिसर एसोसिएशन ने सरकार से प्रार्थना की है कि कोरोना वायरस से लड़ने के लिए हमारी जो प्रथम पंक्ति हमारे जो स्वास्थ्य सैनिक है। उनको पूरी तरह से  हथियारों से लैस किया जाए। मतलब उनको पर्सनल प्रोटेक्टिव गियर दिए जाएं। क्योंकि इस समय यह जरूरी है कि हमारे स्वास्थ्य सैनिक स्वस्थ रहें। संघ के महासचिव डॉ पुष्पेंद्र वर्मा ने कहा कि जैसा कि अमूमन हमारे सारे अस्पतालों में भीड़ रहती है।

इसलिए यह जरूरी है कि हमारे डॉक्टर ,नर्सेस लैब टेक्नीशियन, वार्ड बॉयज, और यहां तक कि सफाई कर्मचारी भी पर्सनल प्रोटेक्टिव गियर का इस्तेमाल करें। इसलिए संघ गुजारिश करता है कि जल्द से जल्द सभी स्वास्थ्य कर्मियों को जो मेडिकल कॉलेजों, जिला अस्पतालों, सिविल अस्पतालों और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर काम कर रहे हैं।

उनको यह अनिवार्य किया जाए कि वह पर्सनल प्रोटेक्टिव गीयर पहन के ही काम करें। संघ के महासचिव डॉ पुष्पेंद्र वर्मा ने आगे कहा कि हम इस मुश्किल घड़ी में अपने जनता के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं और अगर हमारे स्वास्थ्य सैनिकों को दिन-रात करके भी काम करना पड़ेगा तो हम उसके लिए भी तैयार हैं।

संघ ने साथ ही लोगों से भी अपील की है कि वह अस्पताल में तभी जाएं जब उनको लगता है कि बहुत ही जरूरत है क्योंकि हम एक विकासशील देश है और हमारे पास सारे स्त्रोत जो हैं सीमित है इसलिए हमें सतर्कता सावधानी और सरकार के आदेशों का अक्षररश पालन करना होगा।