शहीद बेटे की शहादत पर गर्व, एक और बेटा होता तो उसको भी सेना में भर्ती करवातेः शहीद के पिता

  • 01 Aug 2020
  • Reporter: पी.चंद, शिमला

जम्मू-कश्मीर के राजौरी सेक्टर में शहीद हुए हमीरपुर जिला के वीर सपूत रोहिन ठाकुर के पिता ने कहा कि उन्हें अपने बेटे के शहादत पर गर्व है। वह उनका इकलौता बेटा था लेकिन अगर एक और बेटा होता तो देश की सेवा के लिए उसको भी सेना में भर्ती करवाते। वीर सपूत के शहादत के बाद गांव में मातम का माहौल है और पाकिस्तान के प्रति लोगों में खासा आक्रोश है।

रोहित ठाकुर के पिता बलवीर का कहना है कि उनके बेटे का बचपन से ही सेना में जाने का सपना था उन्हें गर्व है कि वह देश के काम आ गए हैं। उन्होंने कहा कि अगर उनका एक और बेटा होता तो वह उसे भी सेना में देश की सेवा के लिए भेजते। पूर्व सरपंच ग्लोड़ खास पंचायत अनिल वर्मा का कहना है कि नवंबर महीने में युवक की शादी थी और फरवरी महीने में वह घर आया था उनका कहना है कि अब आर-पार की लड़ाई होनी चाहिए लगातार देश के जवान शहीद हो रहे हैं।

आपको बता दें कि जहां एक तरफ से रोहिन ठाकुर की शादी की तैयारियां घर में चल रही थी तो वहीं दूसरी तरफ उनकी शहादत की खबर आ गई  रात को रोहिन की दादी ने पोते की शादी के लिए गांव वालों को निमंत्रण देने के लिए मिष्ठान बनाए थे और शनिवार को यह मिष्ठान गांव भर में बंटी जाने थे लेकिन सुबह 7 बजे ही यह खबर सेना की तरफ से परिवार को मिल गई जिसके बाद आप शहीद की मां का रो-रो कर बुरा हाल है।