25 जनवरी को धर्मशाला में रात आठ बजे से साढ़े आठ बजे तक जगमगाएंगे दीये   

  • 23 Jan 2021

डीसी कांगड़ा राकेश कुमार प्रजापति ने कहा कि पूरे प्रदेश में 25 जनवरी को पूर्ण राज्यत्व दिवस के अवसर पर जिला मुख्यालय के अलावा उप मंडलीय मुख्यालयों में भव्य कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे। धर्मशाला जिला मुख्यालय पर 25 जनवरी रात आठ बजे से लेकर रात साढ़े आठ बजे तक लाइट्स ऑफ करके अपने अपने घरों तथा कार्यालयों, व्यापारिक संस्थानों में दीये जलाकर पूर्ण राज्यत्व दिवस मनाने का निर्णय भी लिया गया है इसमें सभी लोगों की सहभागिता सुनिश्चित की जाएगी ताकि युवा पीढ़ी को भी हिमाचल के पूर्ण राज्यत्व दिवस के बारे जागरूक किया जा सके।

उपायुक्त शनिवार को डीआरडीए सभागार में स्वर्ण जयंती समारोह की रूपरेखा और प्रबन्धों की समीक्षा को लेकर आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए बोल रहे थे। उन्होंने बताया कि 25 जनवरी को डीआरडीए सभागार, गांधी वाटिका तथा शहीद स्मारक में भी कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं इसके साथ धर्मशाला के कचहरी तथा कोतवाली में शिमला से पूर्ण राज्यत्व दिवस की लाइव कवरेज एलईडी स्क्रीन के माध्यम से दिखाने की व्यवस्था भी की गई है। उन्होंने बताया कि उप मंडलीय स्तर पर समारोहों की अध्यक्षता सम्बन्धित एसडीएम करेंगे, जबकि क्षेत्र के किसी भी प्रबुद्ध व्यक्त्वि को समारोह का मुख्यातिथि बनाया जाएगा। समारोह में नवनिर्वाचित पंचायती राज व शहरी निकायों के प्रतिनिधियों के अलावा विभागीय अधिकारी, गैर-सरकारी संगठन, महिला मंडल और युवक मंडल के पदाधिकारी व अन्य स्थानीय गणमान्य व्यक्ति भी मौजूद रहेंगे। 

राकेश प्रजापति ने बताया कि प्रातः 11 बजे शिमला में आयोजित होने वाले राज्य स्तरीय पूर्ण राज्यत्व दिवस समारोह का प्रसारण शुरू होगा, ऐसे में जिला मुख्यालय व उपमंडल स्तर पर होने वाले समारोह 10 बजे से आरंभ होकर 11 बजे से पहले सम्पन्न हो जाएंगे ताकि समारोह स्थल पर उपस्थित लोग 11 बजे से राज्य स्तरीय समारोह का लाइव प्रसारण देख सकें। उन्होंने बताया कि जिला मुख्यालय के अलावा उप मंडलीय मुख्यालयों पर बड़ी एलईडी स्क्रीनों के माध्यम से लाइव प्रसारण की व्यवस्था की जा रही है।

उपायुक्त ने बताया कि स्वर्ण जयंती वर्ष के दौरान कांगड़ा जिला में भी कई तरह की गतिविधियां और कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे। उन्होंने बताया कि इन सभी आयोजनों में आम जन की भागीदारी और जुड़ाव पर प्राथमिकता रहेगी। इसके अलावा विशेष तौर से नई पीढ़ी को हिमाचल प्रदेश के इतिहास और विकास की यात्रा से भी रू-ब-रू करवाया जाएगा। उपायुक्त ने बताया कि जिला के सभी एसडीएम को समारोह के आयोजन को व्यवस्थित और गरिमापूर्ण बनाने के लिए निर्देश दिये गये हैं।