किसानों के समर्थन में राजीव गांधी पंचायती राज संगठन, तीनों कानूनों को निरस्त करने की मांग

  • 13 Jan 2021
  • Reporter: पी. चंद

राजीव गांधी पंचायती राज संगठन ने कृषि कानूनों के खिलाफ शिमला से धर्मशाला तक 350 किलोमीटर की पदयात्रा करके किसानों के पक्ष में समर्थन दिया है। साथ ही संगठन ने तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग की है। संगठन के हिमाचल अध्यक्ष दीपक राठौर ने कहा कि केंद्र सरकार किसान विरोधी है क्योंकि जिस तरह से तीन कृषि कानून लाए गए हैं उसमें किसानों के अधिकारों का हनन होगा और पूंजीपतियों को सीधा फायदा पहुंचेगा।

शिमला में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान दीपक राठ़ौर ने कहा कि किसान दिल्ली में लगातार आंदोलनरत है। कांग्रेस पंचायती राज संगठन ने शिमला से धर्मशाला तक पदयात्रा करके 5 जिलों के 17 विधानसभा क्षेत्रों में किसानों को एकजुट होकर इन तीन कानूनों के खिलाफ लड़ाई लड़ने के लिए जागरूक किया है। हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने 4 सदस्य कमेटी का भी कृषि कानून को लेकर गठन किया है जो कोर्ट में अपनी रिपोर्ट पेश करेगी।

कमेटी के गठन से भी किसानों की समस्या हाल नहीं होगा। राजीव गांधी पंचायती राज संगठन तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग करता है और किसानों के साथ खड़ा है।