हिमाचल के बिना छत के मंदिर की मूर्तियों में आज तक नहीं टिक पाई बर्फ़

  • 03 Mar 2021
  • Reporter: पी. चंद

देवभूमि हिमाचल अपने अंदर कई रहस्यों को समेटे हुए है। यहां के मंदिर विश्वभर में अपनी एक अलग पहचान बनाए हुए है। मंदिरों के अंदर छिपे राज इनमें गूढ़ आस्था को ओर गहरा बना देते हैं। ऐसा ही एक मंदिर है शिकारी देवी माता का मंदिर है जो मंडी के करसोग की गगनचुंबी पहाड़ी पर मौजूद है। 2850 मीटर की ऊंचाई पर स्थित शिकारी देवी मंदिर में आज तक कोई भी छत नहीं बना सका ।

यदि किसी ने छत बनाई भी तो कभी टिकी नही पाई। सर्दी के मौसम में इस पहाड़ी पर बर्फ़ भी बहुत ज़्यादा पड़ती है। लेकिन बर्फ़ भी माता शिकारी की मूर्तियों को कभी ढक नही पाई। इस मंदिर के बारे में मान्यता है कि मंदिर के ऊपर से न तो पक्षी और न ही कोई हेलीकॉप्टर उड़ पाता है। जो आज भी रहस्य बना हुआ है।

कहा जाता है कि इस जगह पर मार्कंडेय ऋषि ने वर्षों तक तपस्या की थी। ऋषि की तपस्या से प्रसन्न होकर मां दुर्गा इसी जगह शक्ति रूप में स्थापित हुई। माना जाता है कि पांडवों ने अज्ञातवास के दौरान इस मंदिर को बनाया और मां की आराधना कर कुरुक्षेत्र के युद्ध के लिए विजय का आशीर्वाद प्राप्त किया था।