SFI ने परीक्षा नियंत्रक को सौंपा ज्ञापन, कहा- चंद दिनों में घोषित किया जाए UG का रिजल्ट

  • 12 Apr 2021
  • Reporter: पी. चंद, शिमला

एसएफआई हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय इकाई ने अंडरग्रेजुएट फर्स्ट और सेकंड ईयर के छात्रों के सामने आ रही दिक्कतों को लेकर सहायक परीक्षा नियंत्रक को ज्ञापन सौंपा। 17 मार्च को यूजी फर्स्ट और सेकंड ईयर के प्रमोट हुए छात्रों का रिजल्ट ट्रायल के लिए साइट पर अपलोड किया गया था और प्रशासन की ओर से यह कहा गया था कि आने वाले चंद दिनों में यूजी का रिजल्ट घोषित किया जाएगा। लेकिन आज बीस दिन बीत जाने के बाद भी विश्वविद्यालय प्रशासन ने रिजल्ट अपलोड नहीं किया है। अभी तक भी साइट पर छात्रों के आधे अधूरे रिजल्ट ही अपलोड किया गए है, जिससे छात्रों को भारी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। इससे साफ झलकता है कि प्रशासन सिर्फ एग्जामिनेशन फीस के नाम पर छात्रों से पैसा वसूलना जानता है।

एसएफआई मांग करती है कि जल्द से जल्द यूजी के सभी परिमाणों को घोषित किया जाए। दूसरी ओर साइट में दिक्कतों के कारण छात्र अपने एग्जामिनेशन फॉर्म भी नहीं भर पाएं हैं। 10 अप्रैल फॉर्म भरने की अंतिम तारीख थी लेकिन साइट के लगातार क्रेश होने के कारण छात्र अपना फॉर्म नहीं भर पाएं है। इसलिए एसएफआई मांग करती है कि फॉर्म भरने की अंतिम तारीख को कुछ दिनों तक बढ़ाया जाए। ERP System तमाम छात्र और गैर शिक्षक वर्ग के लिए चिंता का विषय बना हुआ है। विश्वविद्यालय प्रशासन नई ERP System इसलिए इंप्लीमेंट किया था ताकि छात्रों को रिजल्ट से संबंधित दिक्कतों का सामना ना करना पड़े। लेकिन आज के समय में ERP System ही छात्रों के लिए एक बड़ी समस्या का रूप ले गई है।

छात्रों के आधे अधूरे रिजल्ट्स आ रहे हैं जिससे छात्र मानसिक रूप से प्रताड़ित हो रहा है और अपना रिजल्ट ठीक करने के लिए विश्वविद्यालय के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं। अतः एसएफआई मांग करती है कि जल्द से जल्द इआरपी सिस्टम में आ रही दिक्कतों को ठीक किया जाए। एसएफआई का साफ मानना है कि जल्द से जल्द इन कमियों को दूर नहीं किया गया तो आने वाले समय में ऐसे ही तमाम छात्र समुदाय को लामबंद करते हुए एक प्रदेश व्यापी आंदोलन के अंदर जाएगी जिसका जिम्मेदार विश्वविद्यालय प्रशासन और प्रदेश सरकार होगी।